आज इन मुहूर्त में करें कोई भी काम, हर हाल में पूरी होगी इच्छाएं

Sunil Sharma

Publish: Sep, 12 2017 09:40:00 (IST)

Dharma Karma

सप्तमी भद्रा संज्ञक तिथि अद्र्धरात्र्योत्तर १.०२ तक, तदुपरान्त अष्ठमी जया संज्ञक तिथि प्रारम्भ हो जाएगी

सप्तमी भद्रा संज्ञक तिथि अद्र्धरात्र्योत्तर १.०२ तक, तदुपरान्त अष्ठमी जया संज्ञक तिथि प्रारम्भ हो जाएगी। यदि समय शुद्ध हो तो सप्तमी तिथि में विवाहादि मांगलिक कार्य, नाचना, गाना, वस्त्रालंकार, यात्रा, प्रवेश तथा अन्य उत्सवादि शुभ होते हैं। पर अभी श्राद्ध पक्ष में शुभ कार्य वर्जित हैं।

नक्षत्र: कृतिका ‘मिश्र व अधोमुख’ संज्ञक नक्षत्र प्रात: ७.५६ तक, इसके बाद रोहिणी ‘ध्रुव व ऊध्र्वमुख’ संज्ञक नक्षत्र है। रोहिणी नक्षत्र में यदि समय व तिथ्यादि ग्राह्य हो तो सभी पौष्टिक, धनसंचय, विवाहादि मांगलिक कार्य, देवगृह, देवकृत्य व अलंकारादिक कार्य शुभ व सिद्ध होते हैं।

योग: हर्षण नामक नैसर्गिक शुभ योग प्रात: ९.५४ तक, इसके बाद वज्र नामक नैसर्गिक अशुभ योग है। वज्र नामक योग की प्रथम तीन घटी शुभ कार्यों में त्याज्य हैं। विशिष्ट योग: सूर्योदय से प्रात: ७.५६ तक सर्वार्थसिद्धि व त्रिपुष्कर नामक शुभाशुभ योग तथा दोष समूह नाशक रवियोग नामक शक्तिशाली शुभ योग है। करण: भद्रा संज्ञक विष्टि नामकरण दोपहर बाद २.०९ तक, इसके बाद बवादि करण रहेंगे। स्वर्ग लोक की भद्रा शुभ है।

शुभ विक्रम संवत् : 207४
संवत्सर का नाम : साधारण
शाके संवत् : 193९
हिजरी संवत् : 143८, मु.मास: जिलहिज-२०
अयन : दक्षिणायन
ऋतु : शरद्
मास : आश्विन। पक्ष - कृष्ण।

शुभ मुहूर्त: उपर्युक्त शुभाशुभ समय, तिथि, वार, नक्षत्र व योगानुसार आज किसी शुभ व मंगल कृत्यादि के शुभ व शुद्ध मुहूर्त नहीं है।

श्रेष्ठ चौघडि़ए: आज प्रात: ९.१९ से दोपहर बाद १.५५ तक क्रमश: चर, लाभ व अमृत तथा अपराह्न ३.२८ से सायं ५.०० तक शुभ के श्रेष्ठ चौघडि़ए हैं एवं दोपहर ११.५८ से दोपहर १२.४७ तक अभिजित नामक श्रेष्ठ मुहूर्त है, जो आवश्यक शुभकार्यारंभ के लिए अत्युत्तम हैं।

व्रतोत्सव: आज सप्तमी का श्राद्ध तथा रोहिणी व्रत (जैन) है। चन्द्रमा: चन्द्रमा सम्पूर्ण दिवारात्रि वृष राशि में रहेगा। ग्रह राशि-नक्षत्र परिवर्तन: प्रात: ६.५० पर गुरु चित्रा नक्षत्र के तृतीय चरण व तुला राशि में प्रवेश करेगा। दिशाशूल: मंगलवार को उत्तर दिशा की यात्रा में दिशाशूल रहता है। चन्द्र स्थिति के अनुसार आज दक्षिण दिशा की यात्रा लाभदायक व शुभप्रद रहेगी।

राहुकाल: अपराह्न ३.०० से सायं ४.३० बजे तक राहुकाल वेला में शुभकार्यारंभ यथासंभव वर्जित रखना हितकर है।

आज जन्म लेने वाले बच्चे
आज जन्म लेने वाले बच्चों के नाम (ओ, वा, वि, वु, वे) आदि अक्षरों पर रखे जा सकते हैं। इनकी जन्म राशि वृष तथा नक्षत्र पाया स्वर्ण रहेगा। सामान्यत: ये जातक धनी, गुणी, दृढ़व्रती, सदाचारी, दीर्घायु, स्वरूपवान, स्थिर बुद्धि वाले, अभिमानी, भोगी, रतिप्रिय, मधुरभाषी, चतुर, दक्ष तथा तेजस्वी होते हैं। इनका भाग्योदय लगभग ३० वर्ष की आयु तक होता है। वृष राशि वाले जातकों को आज उनके कार्यक्षेत्र में प्रगति, प्रशंसा और उत्तम लाभ होगा।

Web Title "Todays shubh muhurat aaj ka rashifal in hindi daily horoscope"