परकोटे में होंगी और २ टनल

Sunil Sharma

Publish: Sep, 27 2017 04:42:43 PM (IST)

इसके लिए स्मार्ट सिटी कंपनी को फिजिबिलिटी रिपोर्ट भेज दी है। अब डीपीआर बनाने की तैयारी शुरू कर दी

जयपुर। मेट्रो के नाम पर हैरिटेज को बर्बाद करने के बाद सरकार का चारदीवारी में टनल (सबवे) बनाने का प्लान एक कदम और बढ़ गया है। रामनिवास बाग से जोरावर सिंह गेट के पहले तक दो टनल बनेगी। जयपुर मेट्रो ने इसकी हरी झण्डी दे दी है। इसके लिए स्मार्ट सिटी कंपनी को फिजिबिलिटी रिपोर्ट भेज दी है। अब डीपीआर बनाने की तैयारी शुरू कर दी।

स्मार्ट सिटी कंपनी की बोर्ड बैठक में यह फैसला किया गया। रूट की लम्बाई 3.3 किमी है। टनल जौहरी बाजार, बड़ी चौपड़, सुभाष चौक होते हुए जोरावर सिंह गेट तक होगी। सूत्रों के मुताबिक सरकार के आदेश पर यह किया जा रहा है ताकि चारदीवारी से बाहर जाने वाले वाहन चालक सीधे निकलें और चारदीवारी में वाहनों का दबाव कम हो।

गौरतलब है कि पिछले दिनों केन्द्रीय मंत्री वैंकया नायडू के सामने प्रस्ताव पर चर्चा की थी। अफसरों ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र योजना बोर्ड (एनसीआरपीबी) से लागत राशि दिलाने की ने जरूरत जताई थी, जिस पर नायडू ने रजामंदी जता दी। हालांकि अब केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री बदल चुके हैं। बैठक में सीईओ रवि जैन सहित अन्य अधिकारी शामिल हुए।

परकोटा न हो जाए खोखला
अफसरों का कहना है कि बड़ी संख्या में वाहन चालक अजमेरी गेट, सांगानेरी गेट होते हुए सीधे जोरावर सिंह गेट की ओर गुजरते हैं। उनका चारदीवारी के बाजार व अन्य हिस्सों में ठहराव नहीं है। ऐसे वाहन चालकों के लिए अण्डरपास प्रस्तावित किया जा रहा है। हालांकि सरकार के प्रस्ताव की हकीकत डीपीआर से ही सामने आएगी लेकिन इससे हैरिटेज में शुमार चारदीवारी को खोखला जरूर कर दिया जाएगा। वैसे यह प्रस्ताव मौजूदा भाजपा सरकार के शुरुआती दौर का है। उस समय भी यही प्रस्ताव आया था लेकिन तब भी मेट्रो में फिजिबल नहीं होने की आशंका जताकर इसे ठण्डे बस्ते में डाल दिया गया था।

अब डीपीआर बनाने का काम होगा
जयपुर मेट्रो की फिजिबिलिटी रिपोर्ट में टनल को हरी झण्डी दी गई है। अब डीपीआर बनाने का काम होगा। इससे चारदीवारी में यातायात, प्रदूषण समस्या दूर हो सकेगी। केन्द्र सरकार से भी मदद लेने की कोशिश रहेगी। चौगान स्टेडियम में स्पोट्र्स कॉम्पलेक्स भी बनेगा।
- मंजीत सिंह, चेयरमैन, स्मार्ट सिटी कंपनी

More Videos

Web Title "Jaipur City will have two tunnels"