योगी की सख्ती के चलते UP के बदमाशों ने यहां डाला डेरा, 'तमंचा कल्चर' बढ़ा रहा पुलिस की मुसीबत

By: Prateek Saini

Published On:
Jul, 19 2019 09:34 PM IST

  • UP Government: योगी आदित्यनाथ ( Yogi Adityanath ) के निर्देश के बाद यूपी पुलिस ( UP Police ) का डंडा सख़्त होता जा रहा है। नतीजतन आरोपी शांत उत्तराखंड में तांडव मचा रहे हैं।

     

(देहरादून,हर्षित सिंह): उत्तराखंड में आए दिनों तमंचों के दम पर हो रही लूट, चेन स्नैचिंग, शॉपिंग कंपनी में डकैती की घटनाएं सामने आ रही है। शांत माना जाने वाला राज्य, धीरे-धीरे पश्चिमी यूपी के अपराधियों की पनाहगाह बनता जा रहा है। यूपी से आ रहा 'तमंचा क्लचर' पुलिस ( Uttarakhand police ) के लिए चिंता का सबब बनता जा रहा है।

 

उत्तराखंड में अपराधों में अचानक आए उछाल से पुलिस के माथे पर बल पड़ गए हैं। इसकी वजह साफ है शांत और सुरक्षित माने जाने वाले उत्तराखंड में ऐसी घटनाएं गिनी चुनी हैं, जिसमें तमंचे का इस्तेमाल किया गया हो। पुलिस को दोहरे मोर्चे संभालने पड़ रहे हैं। एक तो स्थानीय बदमाशों पर लगाम लगाना, दूसरी तरफ पश्चिमी यूपी से आ रहे ईनामी अपराधियों को रोकना।

 

तमंचे के दम पर हुई वारदातें, यूपी की गैंग्स शामिल

Uttarakhand

उत्तराखंड पुलिस के बीच पश्चिमी उत्तर प्रदेश से आ रहे अपराधियों की चिंता अचानक नहीं आ है। पिछले चार-पांच साल में राज्य में हथियारों के दम पर लूट हुई। इनमें से पेट्रोल पंप लूट, शॉपिंग कांमप्लेक्स लूट और घरों में लूट इन सभी में पश्चिमी यूपी के गैंग शामिल थे।


वारदातें जो बता रही यूपी की गैंग्स के कारनामें

Uttarakhand

उत्तराखंड में पहले भी चेन छीनी जाती रही, लेकिन किसी में भी तमंचे का प्रयोग नहीं किया गया। इस साल दून में तीन वारदातों में चेन छीनने के लिए तमंचा इस्तेमाल किया गया। इसमें से एक घटना में महिला पर चेन स्नैचिंग के लिए तमंचे से फायरिंग कर दी। पुलिस का मानना है कि अपराध का यह तरीका मूल रूप से पश्चिमी यूपी के अपराधियों का है। हांलाकि इस बारे में स्थिति अभी साफ होना बाकी है। यह कोई स्थानीय अपराधी भी कर सकता है।

गोली मार लूटा पेट्रोल पंप

Uttarakhand

बता दें कि दून के पेट्रोल पंप मालिक गगन भाटिया को गोली मारकर लाखों का कैश लूटने की वारदात में बिजनौर के अपराधी शामिल थे। इसी तरह ऑनलाइन कंपनी के ऑफिस में डकैती डालने वाले सहारनपुर के बदमाश थे। इतना ही नहीं क्लेमेंटाउन, नेहरू कालोनी और पटेलनगर की चोरी में पश्चिमी यूपी के अपराधी थे। पुलिस मुख्यालय द्वारा करवाए गए सर्वे में चेन छीनने, वाहन, चोरी में 35 प्रतिशत उत्तर प्रदेश के अपराधी शामिल रहते हैं व बाकी के 60 प्रतिशत स्थानीय बदमाश शामिल रहते हैं। इसके अलावा पांच प्रतिशत में हरियाणा, दिल्ली व अन्य राज्यों के अपराधी हैं। महानिदेशक लॉ एंड आर्डर अशोक कुमार ने बताया कि पिछले कुछ समय से पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अपराधियों की गतिविधियां बढ़ी हैं। इसके रोकथाम के लिए जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।


इस वजह से उत्तराखंड आ रहे बदमाश

Uttarakhand

उत्तर प्रदेश में अपराधियों के खिलाफ योगी सरकार ( Yogi Government ) की नीति जगजाहिर है। आलम यह है कि प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी सपा ( SP ) भी योगी सरकार की कठोर नीति की यह कह कर आलोचना करती रही है कि योगी की पुलिस ( up police ) लोगों को ठोक रही है और लोग पुलिस को ठोक रहे हैं। बहरहाल, योगी की अपराधियों के प्रति यह कठोर नीति संगठित अपराधों के साथ ही छुटभैया अपराधियों में भी डर का माहौल पैदा किए हुए है। पुलिस सूत्रों की मानें, तो योगी सरकार की इसी नीति से डरे अपराधियों ने अब उत्तराखंड को अपना डेरा बना लिया है। अपराधियों ने इस राज्य में तमंचा कल्चर ( Tamancha Culture ) की शुरुआत करते हुए उगाही व अपराधिक वारदातों को अंजाम देना शुरू कर दिया है। जानकार मानते हैं कि उत्तराखंड पुलिस ( Uttarakhand Police ) के नरम रवैये की वजह से भी अपराधी उत्तराखंड को सुरक्षित पनाहगाह मानते हैं। इसके चलते आने वाले समय में यूपी से आने वाले अपराधियों के बढ़ने की आशंका लगातार बढ़ रही है। इसके चलते स्थानीय गैंग व बाहर से आने वाले गैंग में वर्चस्व की लड़ाई भी संभव है।

 

उत्तराखंड की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़े: उत्तराखंड में पहली बार जज बर्खास्त, लगा यह गंभीर आरोप

Published On:
Jul, 19 2019 09:34 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।