अभी भी सुर्खियां बटोर रही है गुप्ता बंधुओं के बेटों की शाही शादी,जानिए क्या है मामला

By: Prateek

|

Published: 18 Jul 2019, 08:54 PM IST

Dehradun, Dehradun, Uttarakhand, India

(देहरादून,हर्षित सिंह): देशभर में चर्चित रही गुप्ता बंधुओं के बेटों की औली में दो सौ करोड़ की शाही शादी ( gupta brothers's sons wedding ) के मामले में नैनीताल हाईकोर्ट ने सरकार, जिलाधिकारी चमोली और राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से 10 दिन के अंदर जवाब मांगा है।

 

बोर्ड की पहली रिपोर्ट में कही गई यह बात

इस मामले पर मुख्य न्यायाधीश रमेश रंगनाथन एवं न्यायामूर्ति आलोक कुमार वर्मा के समक्ष सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान औली में हुई शादी के चलते हुए प्रदूषण की रिपोर्ट प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा कोर्ट में पेश की गई। हांलाकि प्रदूषण बोर्ड की रिपोर्ट से असंतुष्ट कोर्ट ने दोबारा विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। इस दौरान न्यायालय में प्रदूषण बोर्ड के मेंबर सेक्रेट्री भी पेश हुए। बोर्ड की रिपोर्ट में बताया गया है कि शादी होने से पहले व उसके बाद वहां पर दो सौ मजदूर मौजूद थे। इनके लिए कोई शौचालय की व्यवस्था नहीं थी। इसके चलते मजदूरों को आसपास ही खुले में शौच करने जाना पड़ा। शादी के दौरान बारिश हुई। इसके चलते सारी गंदगी धौली गंगा में बह गई।रिपोर्ट में साफतौर पर कहा गया कि शादी में ज्यादार वस्तुएं पॉलीथिन से बनाई गई थीं। सुनवाई की दौरान कोर्ट ने प्रदूषण बोर्ड से पूछा कि 320 टन कूड़े को जैविक और अजैविक में अलग किया गया या नहीं। कूड़े का निस्तारण कैसे किया गया है?

 

हाईकोर्ट ने दिया यह आदेश

Gupta Brothers

हाईकोर्ट ( nainital highcourt ) ने बोर्ड को आदेश दिया कि वह दोबारा जांच करें कि पर्यावरण का कितना नुकसान हुआ। इसके लिए जितना बिल आए वह जिलाधिकारी चमोली को बताएं। इसके अलावा कोर्ट ने आदेश दिया कि पता लगाया जाए कि धौली गंगा की तरह आसपास के कितने जल स्त्रोतों को नुकसान हुआ। सुनवाई के दौरान याचिका कर्ता अधिवक्ता रक्षित जोशी निवासी काशीपुर ने वाडिया फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टिट्यूट व ज्यूलोजिकल सर्वे ऑफ इंडिया को भी मामले में पक्षकार बनाने का अनुरोध किया। जिससे पता चल सके कि औली बुग्याल की श्रेणी में है कि नहीं और पर्यावरण को कितना नुकसान हुआ।


गौरतलब है कि रक्षित जोशी ने हाईकोर्ट में गुप्ता बंधुओं ( Gupta Brothers ) के बेटों की औली में शादी के विरोध में जनहित याचिका दायर की थी। याची ने कहा था कि औली बुग्याल में उद्योगपति गुप्ता बंधुओं के बेटों की शादी 18 से 22 जून तक होने जा रही हैं। यहां पर हेलीकॉप्टर के लिए अस्थायी हेलीपैड बनाए गए हैं। इस पर सैकड़ों की संख्या में हेलीकॉप्टर उडेंगे। इनसे बुग्यालों समेत जंगली जानवरों को भी खतरा है। इसके साथ ही याची का कहना था कि राज्य सरकार द्वारा कोर्ट के आदेशों की अनदेखी की जा रही है। इसमें कोर्ट ने पहाडी क्षेत्रों बुग्याल में किसी तरह कि गतिविधि पर रोक लगाई थी।

उत्तराखंड की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...
यह भी पढ़े: अजय गुप्ता के बेटे सूर्यकांत की शाही शादी औली में संपन्न,इन मश्हूर हस्तियों से आबाद रही महफिल

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।