महिलाओं ने जलदाय कार्यालय पर मटके फोड़ नारेबाजी की

By: Gaurav Kumar Khandelwal

Updated On:
12 Jun 2019, 07:55:41 AM IST

  • उपखंड अधिकारी ने ली जलदाय अधिकारियेां की बैठक

महुवा. क्षेत्र के पावटा गांव में जलदाय अधिकारियों की लापरवाही के चलते इन दिनों पेयजल संकट गहराया हुआ है। जिसके चलते ग्रामीणों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उक्त समस्या को लेकर ग्रामीण जलदाय अधिकारियों को अनेक बार अवगत करवा चुके थे, लेकिन पेयजल संकट बरकरार रहा। इसे लेकर मंगलवार को ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा और दर्जनों महिला-पुरूष खाली मटके लेकर हरदेव पावटा के नेतृत्व में हिंडौन रोड स्थित जलदाय कार्यालय पर आ पहुंचे और कार्यालय के गेट पर मटके फोड़ कर विभागीय अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी की।

 

 

ग्रामीणों ने बताया कि अनेक बार शिकायत करने के बाबजूद समस्या का समाधान नहीं हुआ और अधिकारियों को खरी-खोटी सुनाई। इसके पश्चात सभी ग्रामीण इक_ा होकर उपखंड अधिकारी रतनलाल योगी के पास पहुंचे और ज्ञापन सौंपा। जहां ज्ञापन में बताया कि पावटा के जाटव मौहल्ला, भायली पट्टी, घुण्डा पट्टी, जिंद मोहल्ला सहित गांव में हैण्डपंप नकारा हो चुके हंै व एकलबिन्दु खराब पड़े हैं। कही भी पेयजल सप्लाई नहीं हो पा रही। इसे लेकर उपखंड अधिकारी ने जलदाय अधिकारियों की बैठक बुला ली और सात दिन के अन्दर पावटा की पेयजल समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया।

 

 

इसके बाद ग्रामीण शांत होकर वापस लौटे। इस दौरान सुन्दर देवी, किशनी, संतरा, सुनीता, जल्लो, मौजन्ती, कलावती, रामनिरी, मीरा, अर्चना, कमलेश देवी, फूलवती, रामेश्वर, भगवत, बिजेन्द्र, राजकुमार, शिवसिंह, मदन, देशराज सहित अनेक लोग मौजूद थे। (महुवा ग्रामीण)

 

 

पाइप लाइन के लीकेजों को कराया दुरुस्त


बसवा. कस्बे के नलों में आ रहा गंदा पानी का समाचार राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित होने पर जलदाय विभाग के अधिकारी हरकत में आए। विभाग के कनिष्ठ अभियंता ने मंगलवार को नलों में आ रहे पानी का अवलोकन लीकेजों को बंद कराया। कस्बे के राजपूत मोहल्ले में करीब डेढ़ माह से नलों में गंदा पानी की सप्लाई हो रही थी। बदबू के कारण उस पानी को जानवर भी नहीं पि रहें थे। इसके चलते लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। राजस्थान पत्रिका के 9 जून के अंक में डेढ़ माह में भी नही हुआ गंदे पानी का समाधान समाचार प्रकाशित होने पर विभाग के कनिष्ठ अभियंता अशोक मीणा ने मौके पर जाकर गंदे पानी को देखा ओर राइजिंग लाइन में हो रहे लीकेजों को दुरुस्त कराया।

Updated On:
12 Jun 2019, 07:55:41 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।