जनता को रास नहीं आए तो राजा को बना देती है रंक-गीता खटाना

gaurav khandelwal

Publish: Sep, 12 2018 07:52:29 AM (IST)

 

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

बांदीकुई. सर्व समाज संघर्ष समिति की ओर से मंगलवार को बसवा रोड स्थित उपखण्ड अधिकारी कार्यालय के बाहर अध्यक्ष रामसिंह चंदेला की अध्यक्षता में धरना दिया। इसमें लोगों ने भाजपा सरकार को जमकर कोसा। इसमें जिला प्रमुख गीता खटाना ने कहा कि यदि जनता को राजा रास नहीं आता है तो रंक भी बना देती है। ऐसे में सरकार को समस्याओं के प्रति संवेदनशील होना चाहिए। बांदीकुई एवं बसवा सहित क्षेत्र में पानी की समस्या नासूर बनी हुई है।

 

लोगों को 8 से 10 दिन में एक बार पानी मिल रहा है। यह पानी भी खारा एवं फ्लोराइडयुक्त होने से लोग बीमारियों की जकड़ में आ रहे हैं। ब्राह्मण समाज नगर अध्यक्ष राधारमण तिवाड़ी ने कहा कि तहसीलदार, बांदीकुई, बसवा, बैजूपाड़ा एवं बडियाल कलां में नायब तहसीलदार नहीं है। छात्र जाति एवं मूल निवास प्रमाण पत्रों के लिए किराया-भाड़ा लगाकर भटक रहे हैं। क्षेत्रीय विधायक, सांसद एवं दो राज्य सभा सांसद भाजपा के होने के बाद भी क्षेत्र की उपेक्षा की जा रही है।

 

 

सैनी समाज अध्यक्ष रंगलाल सैनी ने कहा कि राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में कई वर्षो से सोनोग्राफी की सुविधा बंद पड़ी है। लोगों को साढ़े 7 सौ रुपए देकर निजी नर्सिंग होमों में सोनोग्राफी करानी पड़ रही है। जबकि सरकारी चिकित्सालय में मात्र 250 से 300 रुपए में सोनेाग्राफी होती है।

 

 

मीणा समाज अध्यक्ष रामप्रसाद मीणा ने कहा कि सरकारी चिकित्सालयों में विशेषज्ञ चिकित्सक नहीं होने से मरीजों को जयपुर-दौसा उपचार के लिए जाना पड़ रहा है। गुर्जर समाज तहसील अध्यक्ष विजयसिंह बैंसला ने कहा कि ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र में आंवारा पुशओं के विचरण से किसानों की फसल चौपट हो रही है।आंवारा सांड़ों के हमले से कई लोगों की मौत हो चुकी हैं, लेकिन प्रशासन मौन बैठा हुआ है।

 

राजपूत समाज संरक्षक भंवरसिंह नंदेरा ने कहा कि बिजली की बार-बार ट्रिपिंग व कटौती से आमजन परेशान हो रहा है। फाल्ट के नाम पर कई घण्टे बिजली गुल हो जाती है। इससे उद्योग धंधे भी चौपट हो रहे हैं। सैन समाज अध्यक्ष प्रकाश सैन ने कहा कि शहर में पानी निकास की कोई व्यवस्था नहीं है। बारिश के होते ही शहर के प्रमुख मार्गो पर घुटनों तक पानी भराव हो जाता है। सरकार की अनदेखी के चलते क्षेत्र विकास में पिछड़ता जा रहा है।

 

प्रवक्ता राधाकिशन मीणा ने कहा कि आम रास्ते एवं सरकारी भूमि पर अतिक्रमण बढ़ता जा रहा है। इसे शीघ्र अतिक्रमण से मुक्त किया जाए। बाबूलाल भाण्डेड़ा ने कहा कि सरकारी कार्यालयों में भ्रष्टाचार चरम पर है। इससे आमजन परेशान हो चुका है। यदि समय रहते कार्रवाई नहीं हुई तो आन्दोलन को गति दी जाएगी।

 

 

इस मौके पर ब्राह्मण समाज तहसील अध्यक्ष श्यामसुंदर जैमन, खण्डेलवाल वैश्य समिति अध्यक्ष संतोष कुमार बड़ाया, अग्रवाल समाज अध्यक्ष गोपालकृष्ण गोयले, विजयवर्गीय समाज अध्यक्ष डॉ. सोमेश विजय, सरपंच संघ अध्यक्ष गोपालसिंह नांगल, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष तेजसिंह सिहर्रा, इंजीनीयर वेदप्रकाश शर्मा, अशोक काठ, पूर्व नगरपालिका चेयरमैन चन्द्रमोहन आकोदिया, पार्षद रतनसिंह गुर्जर, बनवारीलाल बैरवा, रामधन आभानेरी, जयसिंह बैरवा, प्रभूदयाल महुखेड़ा, गौरव खण्डेलवाल, धारासिंह मोराड़ी, जमनालाल मीणा, दिनेश जांगिड़ एवं सुनील बैंसला ने भी विचार व्यक्त किए। इसके बाद उपखण्ड अधिकारी चिम्मनलाल मीणा को धरना स्थल बुलाकर ज्ञापन सौंपा और 20 सितम्बर तक कार्रवाई नहीं होने पर उग्र आन्दोलन की चेतावनी दी।

More Videos

Web Title "If the public does not come in the lurch, then the king makes the rink"

Rajasthan Patrika Live TV