सड़क हादसे में चालक ट्रेलर की केबिन में फंसा, तीन घंटे की मशक्कत से बाहर निकाला, हुई मौत

By: Mahesh Jain

Updated On:
10 Sep 2019, 06:32:14 PM IST

  • दौसा: महुवा के करणपुर मोड़ की घटना, जयपुर से भरतपुर की ओर जा रहा ट्रेलर

दौसा. महुवा. Driver caught in trailer cabin in road accident, pulled out after three hours of effort, died बीकानेर आगरा राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित करणपुर मोड़ के समीप दो ट्रेलरों की टक्कर में ट्रेलर चालक की दर्दनाक मौत हो गई। पुलिस ने तीन घंटे की मशक्कत के बाद ट्रेलर की केबिन में फंसे चालक को बाहर निकाला।


बालाहेड़ी चौकी प्रभारी राजेश कुमार ने बताया कि सोमवार देर रात करणपुर मोड़ के समीप जयपुर से भरतपुर की ओर जा रहा ट्रेलर आगे चल रहे ट्रेलर के अचानक ब्रेक लगाने से पीछे से भिड़ गया। इससे ट्रेलर चालक भोलानाथ पांडे (50) पुत्र सोमनाथ पांडे निवासी नोधन कुंज संत रविदास नगर उत्तर प्रदेश ट्रेलर की केबिन में बुरी तरीके से फंस गया।

पुलिस ने के्रन की सहायता से 3 घंटे की मशक्कत के बाद चालक को केबिन से बाहर निकाल कर सामुदायिक अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने परिजनों की मौजूदगी में पोस्टमार्टम करा कर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया।

बोर्ड लगाने पर दो व्यापारियों में हुआ झगड़ा
बांदीकुई. शहर के अस्पताल रोड पर मंगलवार सुबह दुकान के आगे बोर्ड लगाने को लेकर दो व्यापारियों में हुई कहासुनी मारपीट में तब्दील हो गई। इससे दोनों व्यापारी चोटिल हो गए। सूचना पर थाना पुलिस ने मौके पर पहुंच समझाइश कर मामला शांत कराया। हालांकि इस सम्बंध में देर शाम तक कोई मामला दर्ज नहीं हुआ है।

शहर के अस्पताल रोड पर नई सब्जी मण्डी संचालित है। यहां सुबह से ही सब्जी लेकर वाहनों के आने एवं जाने की आवाजाही शुरू हो जाने के कारण दोपहर तक जाम की स्थिति बनी रहती है। हालात ये रहते हैं कि लोगों का पैदल निकलना तक मुश्किल हो जाता है। ऐसे में व्यापारियों द्वारा दुकानों के आगे बोर्ड लगा देने के कारण मार्ग सिकुड़ जाता है। इससे आवागमन में परेशानी होती है। ऐसे में बोर्ड लगाने को लेकर दोनों व्यापारियों के बीच कहासुनी हो गई। यह कहासुनी कुछ ही देर में मारपीट में बदल गई।

लोगों की मौके पर काफी संख्या में भीड़ एकत्र हो जाने के कारण आवागमन अवरुद्ध हो गया। मामला बढ़ता देख आस-पास के व्यापारी भी मौके पर पहुंचे और दोनों में बीच-बचाव कराकर अलग किया। इसी बीच पुलिस ने भी मौके पर पहुंच मामले की जानकारी ली। जहां दोनों व्यापारियों को करीब आधा घण्टे तक समझाइश कर मामला शांत कराया।

लोगों का कहना है कि अस्पताल रोड पर यातायात व्यवस्था पूरी तरह चरमराई हुई है। इस मार्ग पर ही महिला महाविद्यालय एवं बालिका विद्यालय भी संचालित है, लेकिन पुलिस की ओर से यहां यातायात व्यवस्था सुचारू किए जाने के कोई प्रयास नहीं किए जाते हैं। ऐसे एक बाइक दूसरी बाइक को छू भी जाए तो झगड़ा हो जाता है। जबकि गत दिनों जिला कलक्टर अविचल चतुर्वेदी भी थाना पुलिस को यातायात व्यवस्था में सुधार के निर्देश देकर गए थे, लेकिन कलक्टर के आदेश भी हवा में उड़ते दिखाई दिए।

सड़क हादसे में चालक ट्रेलर की केबिन में फंसा, तीन घंटे की मशक्कत से बाहर निकाला, हुई मौत

Updated On:
10 Sep 2019, 06:32:14 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।