किसान को आत्मनिर्भर बनाने कृषि उत्पादों का प्रसंस्करण जरूरी

By: Samved Jain

Published On:
Aug, 12 2019 04:06 PM IST

  • किसान संघ के चिंतन शिविर में उठा मुद्दा

दमोह. जलवायु परिवर्तन के कारण कृषि क्षेत्र में लगातार हो रहे बदलाव से कृषि कार्य करने वाले किसानों को दिन प्रतिदिन नई-नई समस्याओं से सामना करना पड़ रहा है। परिणाम स्वरूप कृषि से पर्याप्त आय न होने के कारण किसान की आर्थिक स्थिति बिगड़ती जा रही है। यह चिंता केशव नगर के सरस्वती शिशु मंदिर में चल रहे किसान संघ के क्षेत्री चिंतन शिविर वर्ग में वक्ताओं ने व्यक्त की है।

किसान संघ के राष्टीय कोषाध्यक्ष जुगलकिशोर मिश्र ने कहा कि किसान व कृषि को आत्मनिर्भर बनाने कृषि उत्पादों का प्रसंस्करण कार्य गांवों के आसपास किया जाना आवश्यक हो गया है। मिश्र ने बताया कि गांवों में लगने वाली प्रसंस्करण इकाईयों से कृषि उत्पाद को वाजिब मूल्य मिलना प्रारंभ हो जाएगा। साथ ही गांव के शिक्षित बेरोजगारों को रोजगार के पर्याप्त अवसर गांव में ही उपलब्ध हो जाएंगे। किसान संघ के प्रदेशाध्यक्ष रामभरोसे बासोतिया ने कहा कि कृषि के बदलते परिदृश्य के कारण किसानों के सामने नई चुनौतियां पैदा होने वाली हैं। बहुराष्टीय कंपनियां अनाधिकृत तरीके से भारतीय कृषि में प्रवेश कर रही हैं। हमें अभी से इनसे मुकाबला करने के लिए तैयार रहना होगा।
परंपरागत साथ नकदी फसलें पर दें ध्यान
मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ राज्यों से चिंतन वर्ग में आए किसान संघ के पदाधिकारियों ने कृषि के विभिन्न विषयों पर गंभीर चिंतन किया। जिसमें किसानों को परंपरागत खेती के साथ नकदी फसलों का उत्पादन भी करने पर विशेष जोर दिया गया। जिसका प्रशिक्षण दिए जाने पर जोर दिया गया।


चार प्रांतों के पदाधिकारी हुए शामिल
भारतीय किसान संघ के प्रांत प्रचार प्रमुख राघवेंद्र सिंह पटैल ने जानकारी देते हुए बताया कि दमोह में आयोजित मध्य क्षेत्र के चिंतन वर्ग में महाकौशल प्रांत, मध्य भारत प्रांत, मालवा प्रांत व छत्तीगढ़ प्रांत स्तर के सभी पदाधिकारी शामिल हो रहे हैं। साथ ही मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ प्रदेश के प्रदेश कार्यकारिणी और इन राज्यों में निवासरत सभी राष्ट्रीय पदाधिकारी चिंतन वर्ग में उपस्थित हैं।


इनकी रही मौजूदगी
इस अवसर पर भारतीय किसान संघ के प्रमुख पदाधिकारियों में विशाल चंद्राकर, प्रमोद चौधरी, क्षेत्र संगठन मंत्री महेश चौधरी, प्रांत संगठन मंत्री भरत पटेल, मनीष शर्मा, ओमनारायण पचौरी, प्रांत अध्यक्ष विजय गोंटियां, कमल सिंह आंजना, कैलाश सिंह, प्रदेश मंत्री आरसी पटेल, दामोदर पटेल, रमेश यादव, जिलाध्यक्ष चंद्रभान पटेल, प्रांत प्रचार प्रमुख राघवेंद्र पटेल, संभाग प्रचार प्रमुख राममिलन पटेल, हेमंत पटेल, राजकुमार सिंह, निजाम सिंह, श्रीराम पटेल, राजेश पटेल सहित अन्य सभी किसान संघ पदाधिकारियों की उपस्थिति रही।

Published On:
Aug, 12 2019 04:06 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।