ऐसे 3 भारतीय खिलाड़ी जो कभी आउट नहीं हुए, फिर भी टीम से किया गया बाहर

By: Kapil Tiwari

Updated On: 23 Aug 2019, 02:35:18 PM IST

  • इन खिलाड़ियों को भारतीय टीम में फिर से शामिल नहीं किया गया, जबकि इन्हें कोई गेंदबाज आउट नहीं कर पाया था।

नई दिल्ली। हिंदुस्तान में क्रिकेट खेलते हुए कई खिलाड़ियों ने वो मुकाम हासिल किया है, जहां हर क्रिकेटर के पहुंचने का सपना होता है। भारत में क्रिकेट को किसी धर्म से कम का दर्जा नहीं दिया गया है। इतना ही नहीं दुनिया के महान खिलाड़ियों में से एक सचिन तेंदुलकर को तो क्रिकेट का भगवान कहा जाता है। इंडिया में सबसे ज्यादा कॉम्पिटिशन अगर किसी खेल में है तो वो क्रिकेट में है। इस कॉम्पिटिशन के बीच इंडियन क्रिकेट में कई खिलाड़ी ऐसे रहे हैं, जिन्हें टैलेंट होने के बावजूद भी टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है।

हम आपको ऐसे तीन खिलाड़ियों के बारे में बता रहे हैं, जो अपने शुरुआती करियर में कभी आउट नहीं हुए, लेकिन इसके बाद भी उनकी टीम में जगह नहीं बन पाई। ये हैं वो खिलाड़ी-:

 

1. सौरभ तिवारी

धोनी की तरह लंबे-लंबे बालों के साथ क्रिकेट में एंट्री करने वाले सौरभ तिवारी ने साल 2010 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डेब्यू किया था। सौरभ तिवारी ने 2010 में तीन वनडे मैच खेले ही थे कि उन्हें टीम से ऐसा बाहर किया गया कि वो आज तक वापसी नहीं कर पाए। डेब्यू मैच में सौरभ तिवारी ने 17 गेंद खेलकर 12 रन बनाये थे और वह नाबाद रहे थे। इसके बाद उन्हें 7 दिसंबर 2010 को न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलने का मौका मिला था। उन्होंने इस मैच में 39 गेंदों पर 37 रन की नाबाद पारी खेल भारतीय टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई थी। इसके बाद भी सौरभ तिवारी टीम में जगह नहीं बना पाए थे। सौरभ तिवारी ने करियर में सिर्फ तीन ही मैच खेले थे।

 

faiz_faizal.jpg

2. फैज फैजल

कई क्रिकेट फैंस के लिए ये नाम अनसुना है, क्योंकि फैज फैजल ने इंडिया के लिए सिर्फ एक ही वनडे मैच खेला है और उस मैच में उन्होंने 55 रन की नॉटआउट पारी खेली थी। ये मैच जिम्बाब्वे के खिलाफ था। अगर कोई भी खिलाड़ी नाबाद अर्धशतक लगाता है, तो उसे अगले मैच में आसानी से प्लेइंग इलेवन में जगह मिलती है, लेकिन इस मैच के बाद से उन्हें कभी भारतीय टीम में मौका नहीं मिला। वह घरेलू क्रिकेट में विदर्भ के लिए लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन उन्हें 2016 के बाद से अबतक भारतीय टीम में जगह नहीं मिली है।

 

bharath_reddy.jpg

3. भरत रेड्डी

खिलाड़ियों के साथ ऐसी नाइंसाफी इस दशक में ही नहीं बल्कि पिछले दशक में भी होती थी। 1978 में भारत के लिए अपना वनडे डेब्यू करने वाले भरत रेड्डी को सिर्फ एक बल्लेबाज के तौर पर टीम में शामिल किया गया था। उन्होंने भारतीय टीम के लिए 3 वनडे मैच भी खेले, जिसमे उन्होंने कुल 11 रन बनाए, लेकिन तीनों ही बार एक भी विपक्षी गेंदबाज उन्हें आउट नहीं कर सका। उन्होंने साल 1981 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नाबाद 8 और न्यूजीलैंड के खिलाफ नाबाद 3 रन की पारियां खेली थी। लेकिन इन नाबाद पारियों के बावजूद उन्हें भारत के लिए सिर्फ 3 वनडे खेलने का ही मौका मिला।

Updated On:
23 Aug 2019, 02:28:47 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।