अस्पताल में मजबूत होगी सुरक्षा व्यवस्था, बढ़ेंगे सुरक्षा गार्ड, लगेंगे सीसीटीवी कैमरे

By: Rakesh Kumar Goutam

Updated On:
12 Jun 2019, 08:32:40 PM IST

 
  • जिला कलक्टर संदेश नायक ने किया निरीक्षण, अस्पताल में छह सुरक्षागार्ड व सीसीटीवी लगाने का दिया निर्देश

चूरू.

पंडित दीनदयाल उपाध्याय मेडिकल कॉलेज से जुड़े राजकीय डेडराज भरतिया अस्पताल में आने वाले कुछ दिन में सुरक्षा व्यवस्था और मजबूत होगी। आपातकालीन, रेडियोग्राफी, ट्रोमा व मुख्य ओपीडी के सामने सुरक्षा गार्ड लगाए जाएंगे। इसके अलावा पूरे अस्पताल में सीसीटीवी कैमरे लगवाए जाएंगे। बुधवार को निरीक्षण पर आये जिला कलक्टर संदेश नायक ने उक्त सुविधाओं के विस्तार के लिए अस्पताल प्रबंधन को निर्देश दिए।


कलक्टर नायक ने बताया कि गर्मी को देखते हुए अस्पताल में लू तापघात के लिए पूर्व तैयारी का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि आपातकालीन कक्ष में बर्फ व लू तापघात वार्ड में भी बेड, कूलर व बर्फ आदि कि व्यवस्था थी। सर्जिकल आसीयू में एसी व कुछ पंखें खराब मिले जिन्हे सही करने का लिए मिस्त्री को बुलाकर काम करवाया जा रहा है। मेडिकल कॉलेज की ओर से बनाया जा रहा आपातकालीन कक्ष शीघ्र तैयार करवाकर जल्द उसका हैंडवोअर कराने का निर्देश दिया है। अस्पताल में छह और सुरक्षा गार्ड लगाने के लिए निर्देश दिया है। इसके बाद सुरक्षा की भी समस्या नहीं रहेगी। कलक्टर ने आपातकालीन कक्ष, मेडिसिन आसीयू व एमसीएच विंग का निरीक्षण किया। सोनोग्राफी कक्ष पर एक कार्मिक के ड्रेसकोड में नहीं मिलने पर फटकार लगाई और कहा कि कल से कोई भी कर्मचारी बिना डे्रसकोड व आईकार्ड के बिना ड्यूटी पर नहीं आएगा। इसकी पालना के लिए डा. गौरी को पाबंद किया। इस मौके पर कार्यवाहक अधीक्षक डा. एफएच गौरी मौजूद थे।


डेयरी बूथों पर हो रहे अवैध कारोबार को बंद कराने की मांग


इस दौरान जिला कलक्टर को ज्ञापन देकर कैंटीन संचालक ने डेयरी बूथों पर हो रहे अवैध कारोबार को बंद कराने की मांग की। ज्ञापन में बताया कि उसने लाखों रुपए देकर कैंटीन का ठेका लिया है लेकिन अस्पताल में संचालित डेयरी बूथ अनाधिकृत रूप से दूध-दही के अलावा अन्य सामग्री बेच रहे हैं जिससे कैंटीन का नुकसान हो रहा है। इसके अलावा ब्लड बैंक के पास वाले रास्ते पर अवैध रूप से गुमटी लगाकर कुछ लोग कारोबार कर रहे हैं। इससे भी कैंटीन का नुकसान हो रहा है। गुमटियों पर देर रात तक शराबी बैठे रहते हैं महिलाओं से छेड़छाड़ व अभद्र व्यवहार करते हैं। महिला संविदाकर्मी के साथ भी छेड़छाड़ हो चुकी है। लेकिन प्रशासन अतिक्रमण नहीं हटावा रहा है।

Updated On:
12 Jun 2019, 08:32:40 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।