क्यों दिया राष्टपिता महात्मा गांधी का पैगाम, गूंजाा सत्य, अहिंसा का संदेश महान

By: Nilesh Kumar Kathed

Published On:
Jul, 11 2019 11:19 PM IST


  • राष्ट्रपिता महात्मा गांधी 150वें जयन्ती वर्ष पर तीन दिवसीय आयोजन शुरू
    चित्तौडग़ढ़ में संदेश यात्रा में गूंजा गांधी का पैगाम
    सर्वधर्र्म सद्भावना सभा का आयोजन
    शहीदों के परिजनों ने किया गांधी प्रदर्शनी का उद़्घाटन



चित्तौडग़ढ़. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150वें जयन्ती वर्ष के उपलक्ष्य में चित्तौडग़ढ़ जिला मुख्यालय पर तीन दिवसीय आयोजन गुरुवार से शुरू हो गए। इनका आगाज सुबह गांधी संदेश यात्रा के साथ हुआ जिसने लोगों को राष्ट्रपिता का सत्य-अहिंसा का पैगाम दिया। यात्रा का शुभारंभ शहीद स्मारक सर्किल पर जिला कलक्टर शिवांगी स्वर्णकार, जिला पुलिस अधीक्षक अनिल कयाल, राज्य सरकार द्वारा मनोनीत महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति के संयोजक दिलीप नेभनानी, पूर्व विधायक सुरेन्द्रसिंह जाड़ावत एवं कांग्रेस जिलाध्यक्ष मांगीलाल धाकड़ ने हरी झण्डी दिखाकर किया।गांधी संदेश यात्रा में महात्मा गांधी के जीवन दर्शन पर केन्द्रित झांकियां तथा महात्मा गांधी वेशधारी स्कूली विद्यार्थी आकर्षण का केन्द्र रहे। यात्रा में शामिल सैकड़ों विद्यार्थियों ने नारों के साथ ही बेनर्स व तख्तियों के माध्यम से गांधीजी के विचारों और उपदेशों का संदेश दिया। इसमें स्काउटस,गाइड्, एनएसएस व एनसीसी कैडेट्, नर्सिंग प्रशिक्षणार्थी सहित शहर की विभिन्न निजी एवं सरकारी महाविद्यालयों एवं स्कूलों के विद्यार्थी एवं शिक्षक शामिल हुए। यात्रा शुभारंभ अवसर पर गांधी दर्शन समिति के सह संयोजक पीयूष त्रिवेदी, करणसिंह सांखलाए समिति के सदस्य एवं गांधीवादी विचारक लक्ष्मीलाल उपाध्याय,गोपाल सालवी, शंकर प्रजापत, मोहम्मद आबिद, कमलेश ढेलावत, नवरतन पटवारी, प्रेमप्रकाश मून्दड़़ा, त्रिलोक जाट, जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी नम्रता वृष्णि,अतिरिक्त जिला कलक्टर मुकेश कुमार कलाल एवं विनय पाठक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखदेव जांगिड़ए नगर विकास न्यास के सचिव सीडी चारण सहित कई जिलास्तरीय अधिकारी व जनप्रतिनिधि भी मौजूद थे।

गांधी जीवन पर झांकियों ने जमाया आकर्षण
गांधी संदेश यात्रा में समग्र शिक्षा अभियान की ओर से गांधी जीवन दर्शन पर केन्द्रित झांकियां आकर्षण का केन्द्र रही। इनमें सर्वधर्म प्रार्थना सभा के जरिये सद्भावए चरखा कातते हुए गांधीजी के माध्यम से खादी के महत्व और गांधी के तीन बन्दरों के संदर्भ वाली झांकियों के माध्यम से बुरा देखनेए सुनने और कहने से बचने संदेश दिया गया। विभिन्न स्कूलों के विद्यार्थियों द्वारा गांधी वेश धारण कर संदेश यात्रा में समूह के रूप में भागीदारी भी मनमोहक रही।

गांधी मूर्ति पर माल्यार्पण
गांधी संदेश यात्रा शहीद स्मारक से आरओबी होते हुए कलक्ट्री चौराहा पहुंची जहाँ दाण्डी यात्रा स्मृति स्थल पर महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति के सदस्यों एवं एवं गांधीवादी विचारकों ने महात्मा गांधी की मूर्ति पर सूत की घुण्डी पहनायी और श्रद्धापूर्वक नमन किया। यहां से संदेश यात्रा इन्दिरा गांधी स्टेडियम होते हुए ऑडिटोरियम पहुंची।

शहीदों के परिजनों ने किया प्रदर्शनी का उद्घाटन
ऑडिटोरियम में गांधी जीवन दर्शन प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। प्रदर्शनी का उद्घाटन शहीद चन्दनसिंह की पत्नी मानकंवर एवं अन्य शहीदों के परिजनों ने फीता काटकर किया। अतिथियों ने महात्मा गांधी के सम्पूर्ण जीवन चक्र व एतिहासिक क्षणों से संबंधित सचित्र विवरण का अवलोकन किया। प्रदर्शनी में कुल 26 बोडर््स के माध्यम से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के सम्पूर्ण जीवन दर्शन, व्यक्तित्व एवं कार्यों, उपदेशों आदि को दर्शाया गया है। प्रदर्शनी शुरू होने के बाद ऑडिटोरियम में सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन भी किया गया। प्रदर्शनी उद्घाटन अवसर पर परंपरागत नागर धाकड नाट्य लोक कला संगीत सेवा संस्थान , देवरी के लोक कलाकार लक्ष्मीनारायण रावल के निर्देशन में लोक कलाकारों के समूह ने ढोल एवं शहनाई वादन से अतिथियों का स्वागत किया। प्रदर्शनी शुक्रवार और शनिवार को भी प्रात: 10 बजे से शाम 5 बजे तक अवलोकनार्थ खुली रहेगी।

 

Published On:
Jul, 11 2019 11:19 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।