छलका बस्सी बांध, उमड़ा पर्यटकों का सैलाब

By: Vijay

Published On:
Aug, 12 2019 10:28 PM IST

  • चित्तौडग़ढ़ जिले के बस्सी स्थित प्रमुख जलस्त्रोत बस्सी बांध शनिवार रात लबालब होकर छलक गया। सूचना मिलते ही लोगो मे खुशी की लहर दौड़ गई। रविवार को अवकाश का दिन होने से बस्सी बांध पर पर्यटको का भी सैलाब उमड़ पड़ा। राजमार्ग 27 से बांध की रपट पर बहता जलप्रपात लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है।

चित्तौडग़ढ़ जिले के बस्सी स्थित प्रमुख जलस्त्रोत बस्सी बांध शनिवार रात लबालब होकर छलक गया। सूचना मिलते ही लोगो मे खुशी की लहर दौड़ गई। रविवार को अवकाश का दिन होने से बस्सी बांध पर पर्यटको का भी सैलाब उमड़ पड़ा। राजमार्ग 27 से बांध की रपट पर बहता जलप्रपात लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है। लोग पिकनिक मनाने व रपट पर नहाने का आनन्द लेते दिखे। बस्सी व आसपास के गांवों में सामान्य से कम बारिश होने के बावजूद बस्सी बांध व तालाब का छलकना क्षेत्र के लोगों के लिए आश्चर्य का विषय बना रहा। नीलिया महादेव, झरिया महादेव में दिनभर पर्यटकों की भीड़ रही। रविवार के दिन जिला कलक्टर शिवांगी स्वर्णकार, पुलिस अधीक्षक अनिल कयाल भी परिवार सहित नीलिया महादेव, बस्सी बांध बस्सी वन्यजीव अभयारण्य पहुंचे। वहां भगवान भोलेनाथ व टुकड़ा माता के दर्शन किए।
लगातार बारिश के बाद खुला मौसम
राशमी. उपखण्ड क्षेत्र में लगातार चार दिन हुई बारिश के बाद रविवार को मौसम खुल गया। क्षेत्र में लगातार चार दिन हुई बारिश से किसानों में खुशी है। खेतों के आसपास नदी.नालों व कुऔ में पानी की अच्छी आवक हुई । अच्छी बारिश से किसानों को इस साल बेहतर फसल की उम्मीद है। कस्बे के तालाब में भी पानी बढ़ गया है। जो जल स्रोत पूरी तरह सूख चुके थे उनमें भी अब पानी आ गया है। रविवार सुबह 8 बजे तहसील कार्यालय पर 1 मिमी वर्षा दर्ज की गई। क्षेत्र में 1 जून से 11 अगस्त तक 482 मिमी बारिश हुईं।

Published On:
Aug, 12 2019 10:28 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।