14 फरवरी को यहां हुआ अनूठा आयोजन, पढ़ें पूरी खबर

छिंदवाड़ा/ 14 फरवरी को मातृ-पितृ पूजन दिवस के रूप में मनाने के आदेश मिलने के बाद शुक्रवार को जिले के शिक्षा संस्थाओं में भी यह आयोजन किया गया। विद्यार्थियों ने अपने माता-पिता और गुरुजनों की चरण वंदना की और उनसे आशीर्वाद लिया।
योग वेदांत समिति ने शुक्रवार को गुरुकुल में मातृ-पितृ पूजन दिवस मनाया। इस मौके पर सेवानिवृत्त न्यायाधीश केके तिवारी, कन्हईराम रघुवंशी, विवेक बंटी साहू, रिजवान कुरैशी, राजेश साहू, हेमराज पटले, संजय पटेल मुख्य रूप से उपस्थित थे। इस दौरान छात्र-छात्राओं ने अपने अभिभावकों- पालकों की चरण वंदना की और उनसे आशीर्वाद मांगा।
समिति के अध्यक्ष मदन मोहन परसाई, खजरी आश्रम के संचालक जयराम भाई, गुरुकुल की संचालिका दर्शना खट्टर, प्रबंधक सुशील सिंह परिहार, युवा सेवा संघ के अध्यक्ष दीपक डोईफोड़े, प्राचार्य विवेक शर्मा उपस्थित थे। जगन्नाथ विद्यालय में 750 विद्यार्थियों ने इस दिवस को हर्षोल्लास के साथ मनाया। विद्यालय के प्राचार्य सहित समस्त स्टाफ इस मौके पर उपस्थित था। प्राचार्य आरएस बैस ने बताया कि बच्चों में इस तरह के आयोजन से माता-पिता के प्रति स्नेह बढ़ता है।

छिंदवाड़ा से शुरुआत

बता दें कि मातृ-पितृ पूजन दिवस की शुरुआत छिंदवाड़ा से हुई थी। बाद में में 14 फरवरी को पूरे देश में मातृ-पितृ पूजन दिवस मनाने की मांग सरकार से की गई। इस संदर्भ में प्रधानमंत्री कार्यालय से पत्र भी जारी हुआ था। प्रदेश सरकार ने भी पत्र जारी किया। इस वर्ष कलेक्टर ने सभी स्कूल, कॉलजों को 14 फरवरी के दिन मातृ-पितृ पूजन दिवस बनाने के लिए कहा था।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।