बर्खास्त संविदा स्वास्थ्य कर्मियों के लिए अच्छी खबर, जानें शासन की मंशा

By: Dinesh Sahu

Updated On:
25 Aug 2019, 12:19:01 PM IST

  • शासन ने दिए संकेत, नवम्बर तक पूरी होगी प्रक्रिया

छिंदवाड़ा. मप्र राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत वर्ष 2016-17 में निकाले गए संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों को पुन: कार्य में वापस लिया जाएगा। इस संदर्भ में प्रदेश सरकार ने संकेत दे दिए है तथा मामले में मिशन संचालक को सूचना जारी कर दी गई है। बताया जाता है कि हटाए गए संविदा कर्मियों को 16 नवम्बर 2019 तक मिशन संचालक को आवेदन देना होगा, जबकि उक्त तिथि बीतने के बाद किसी भी तरह के आवेदनों पर सुनवाई नहीं होगी।

 

इधर मप्र स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष जीतेंद्र यदुवंशी ने स्वास्थ्य मंत्री तुलसीराम सिलावट निर्देश का स्वागत किया तथा सरकार से अपेक्षा की है कि 90 प्रतिशत वेतन वृद्धि का भी शीघ्र लाभ मिल सकेगा। उन्होंने बताया कि अप्रेजल और पद समाप्ति की वजह से छिंदवाड़ा से 17, जबकि प्रदेश से 700 संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों को निकाल दिया गया था। उल्लेखनीय है कि प्रदेश में विभिन्न पदों पर 19 हजार संविदा स्वास्थ्य अधिकारी-कर्मचारी कार्यरत है।

 

42 दिन का कटाया वेतन -

 

मप्र संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने विभिन्न मांगों को लेकर कई बार आंदोलन किया, जिसमें उन्हें आंदोलन अवधि करीब 42 दिन का वेतन भुगतान नहीं किया गया था। संविदा स्वास्थ्य संगठन के पदाधिकारियों ने पूर्व में किए गए संघर्ष को ध्यान में रखते हुए 90 प्रतिशत वेतन दिए जाने की मांग पर राहत देने की अपील की है।

Updated On:
25 Aug 2019, 12:19:01 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।