बसंत की बयार से कंट्रोल में शहर की आबोहवा

छिंदवाड़ा. बसंत की शीतल बयार (हवा) के चलते छिंदवाड़ा शहर की आबोहवा कंट्रोल में है। आगे अप्रैल में जरूर धूल भरी आंधियां वायु प्रदूषण को बढ़ा सकती हैं। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की 51 जिलों की मासिक रिपोर्ट में शहर को संतोषजनक श्रेणी में रखा गया है।
बोर्ड की जानकारी के मुताबिक छिंदवाड़ा का एयर क्वालिटी इंडेक्स इस माह मार्च में 82.6 पाया गया है। पीएम 10 में यह 82.6 और पीएम 2.5 में 42.2 है। देखा जाए तो पिछले जनवरी की तुलना में वायु प्रदूषण कुछ घटा है। इसका कारण यह रहा कि उत्तर भारत में
बर्फबारी के चलते वातावरण में ठंड मार्च तक लगातार बनी रही। सडक़ों पर धूल और वाहनों के धुएं के प्रदूषण को भी कम दर्ज किया गया। यह चेतावनी जरूर है कि वायु प्रदूषण का औसत 80 से ऊपर पहुंच रहा है। इसके अप्रैल में 90 पार होने की आशंका है। गर्मी की धूल भरी आंधियों से प्रदूषण का सिलसिला जून माह तक जारी रहेगा।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।