एक साल पढ़ाने के बाद अब कॉलेज मेधावी छात्रों से मांग रहा फीस, जानिए क्या है वजह

By: Ashish Kumar Mishra

Updated On:
25 Aug 2019, 12:14:37 PM IST

  • विद्यार्थियों ने पोस्ट्रमैट्रिक छात्रवृत्ति योजना का लाभ ले लिया है।

 

छिंदवाड़ा. पीजी कॉलेज प्रबंधन द्वारा मेधावी विद्यार्थियों से एक साल अध्ययन करने के बाद फीस मांगी जा रही है। कॉलेज का कहना है कि मेधावी विद्यार्थियों ने उच्च शिक्षा विभाग के पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन नहीं कराया, ऐसे में विभाग ने राशि नहीं भेजी। इसके अलावा कुछ विद्यार्थियों ने पोस्ट्रमैट्रिक छात्रवृत्ति योजना का लाभ ले लिया है। नियम के अनुसार मेधावी विद्यार्थी शासन से केवल एक योजना का लाभ ले सकता है। वहीं विद्यार्थियों का कहना है कि एक साल पढ़ाई के दौरान एक बार भी कॉलेजों ने रजिस्ट्रेशन करने को नहीं कहा। दरअसल मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना के अंतर्गत विद्यार्थियों को शासन के आदेश एवं उच्च शिक्षा विभाग के निर्देश पर विभिन्न कॉलेज में प्रवेश दिया जाता है। प्रवेश के बाद विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा विभाग के पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होता है। इसी के आधार पर उच्च शिक्षा विभाग शासन के माध्यम से कॉलेजों को फीस लौटाती है। वर्ष 2017-18 एवं 2018-19 में कॉलेजों ने मेधावी विद्यार्थियों को निशुल्क प्रवेश दे दिया, लेकिन विद्यार्थियों ने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया। ऐसे में विभाग ने कॉलेज को फीस नहीं भेजी।

गड़बड़ी आई है सामने
कॉलेज मेंमुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना एवं संबल योजना के तहत प्रवेश लेने के बाद कुछ विद्यार्थियों ने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया वहीं कुछ विद्यार्थी एक साथ कई योजना का लाभ लेते हुए पाए गए हैं। सत्र 2017-18 एवं 2018-19 में ऐसे 150 विद्यार्थी चिन्हित किए गए हैं। जिन विद्यार्थियों ने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था उनसे फीस जमा कराई जा रही है।
डॉ. गोपाल जायसवाल, प्राचार्य, पीजी कॉलेज

Updated On:
25 Aug 2019, 12:14:37 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।