बुंदेली लोककला एवं संस्कृति की प्रस्तुतियों के साथ शुरू हुआ खजुराहो फिल्मोत्सव

By: Hamid Khan

Updated On:
19 Dec 2018, 07:58:32 AM IST

  • एक साथ पांच स्थानों पर बनाई गई टपरा टॉकीजों में रिलीज हुईं बुंदेली फिल्में

छतरपुर। विश्व पर्यटन स्थल खजुराहो मेें सोमवार की सुहानी शाम से शुरू हुआ खजुराहो अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का शुभारंभ भव्य तरीके से किया गया। बुंदेली थीम पर हुए शुभारंभ समारोह में आकर्षक आतिशबाजी के बीच बैलगाड़ी पर मंच तक पहुंचे मेहमान को देखकर लोग तालियां बजा उठे। मंच पर बुंदेली लोक नृत्यों दिवारी, राई, बधाई सहित अन्य प्रस्तुतियों ने लोगों को झूमने पर मजबूर कर दिया। वहीं मंगलवार को खजुराहो में एक साथ पांच स्थानों पर टपरा टॉकीज शुरू हो गई, जिनमें एक साथ कई बुंदेली फिल्में रिलीज हुईं।
फिल्म महोत्सव 2018 का भव्य शुभारंभ सोमवार रात पाहिल वाटिका खजुराहो में हुआ। मंच पर मौजूद फिल्मी कलाकारों के बीच बहुरंगीन आतिशबाजी के साथ दीप प्रज्वलन किया। कार्यक्रम के आरंभ में पंडित इंद्रजीत दीक्षित एवं ग्रुप के द्वारा बुंदेली बधाई राई एवं दिवारी नृत्य की प्रस्तुति दी गई। जिसे लोगों ने खूब सराहा एवं तालियों की गडग़ड़ाहट से आयोजन स्थल गूंज गया। कार्यक्रम के शुभारंभ में नगर परिषद खजुराहो के सीएमओ जाबिर खान ने संबोधित किया। तत्पश्चात फिल्म महोत्सव के प्रमुख कर्ताधर्ता एवं सिने अभिनेता राजा बुंदेला ने बुंदेली भाषा में संबोधित करते हुए जनता जनार्दन को इस कार्यक्रम से जोड़ते हुए कहा कि यह आप का कार्यक्रम है। उन्होंने कहा कि हमने इस फिल्म महोत्सव को खजुराहो में करने का निर्णय केवल एक बुंदेलखंडी होने के नाते लिया है। खजुराहो जैसे अंतरराष्ट्रीय स्तर के महत्व वाले स्थान में ऐसे आयोजन का होना न सिर्फ यहां के कला प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करेगी बल्कि पर्यटन के दृष्टिकोण से भी बहुत लाभदायक साबित हो, ऐसा हमारा प्रयास है। शुभारंभ अवसर पर एसडीएम राजनगर स्वप्निल वानखड़े के अलावा राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा, फिल्म निर्देशक राहुल रवैल, अनुराग बसु रोहिताश गौड़, सुष्मिता मुखर्जी अखिलेंद्र मिश्रा, उदयशंकर पाणी, मनोहर खुशलानी, आरिफ सहडोली, राकेश साहू इत्यादि की उपस्थिति रही। महोत्सव की पहली शाम बनारस की रामलीला मुख्य आकर्षण का केंद्र बनी रही। कार्यक्रम के दौरान आए हुए अतिथियों का मंच से सम्मान भी किया गया। खजुराहो फिल्म महोत्सव मेें 23 दिसंबर तक प्रतिदिन सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होगा जो विभिन्न विधाओं से रंगा होगा।


खजुराहो कई मायनों में एक अलग स्थल है : अखिलेंद्र
चंद्रकांता में चाहे यकू कहने वाले क्रूर सिंह का रोल हो या फिल्म लगान में अर्जुन की भूमिका, टीवी सीरियल एवं फिल्मों में विलेन के किरदार में अपनी एक नई पहचान बना चुके सुप्रसिद्ध फिल्म अभिनेता अखिलेंद्र मिश्रा खजुराहो फि ल्म महोत्सव में शामिल होने के लिए खजुराहो पहुंचे हैं। खजुराहो के पर्यटन एवं यहां के शुद्ध वातावरण को लेकर अखिलेंद्र ने कहा कि खजुराहो देश में अपने आप एक अलग तरह का सुंदरतम स्थल है। खजुराहो फिल्म महोत्सव को लेकर उन्होंने कहा कि वर्तमान में पूरे देश में कई छोटे और बड़े शहरों में फिल्म महोत्सव आयोजित हो रहे हैं लेकिन खजुराहो फिल्म महोत्सव अपने आप में अनोखा प्रयास है। आने वाले समय में यह अपना एक अलग ही मुकाम रखेगा और पहचान स्थापित करेगा। वर्तमान में टीवी सीरियल एवं विगत कालातीत के टीवी सीरियलों पर अपने विचार रखते हुए उन्होंने कहा कि ये समय की मांग और लोगों की पसंद के हिसाब से सीरियल एवं फिल्म का निर्माण होता है। उन्होंने डिस्कवरी ऑफ इंडिया कबीर उड़ान मलयालम भाषा में कायर एवं फीचर फिल्म भगत सिंह, तू मेरा हीरो, भूत अंकल, वीर जारा, अंजली पुत्र, गंगाजल, आजा नचले, यह रब, दो दूनी चार, वीरगति, हलचल, आच एवं फिदा जैसी बहुत सी फिल्में की है। इनमें से अधिकांश फिल्मों में अखिलेंद्र ने विलेन का किरदार निभाया है। उन्होंने कहा कि खजुराहो मे फिल्मों व टीवी सीरियल की शूटिंग के हिसाब से भी सही जगह है लेकिन उसके लिए हमें जल्दबाजी की आवश्यकता नहीं है। खजुराहो को खजुराहो ही रहने दें अगर यहां अधिक लोग आएंगे, बाहर के लोग आकर रहेंगे, उद्योग धंधे खोलेंगे तो यहां की आबोहवा शुद्ध वायु जो आपको मिल रही है, वह बड़े शहरों की तरह दूषित हो जाएगी। खजुराहो ना सिर्फ मंदिरों के लिए बल्कि यहां के शुद्ध वातावरण के लिए जाना जाए हम ऐसी ही अपेक्षा करते हैं।
फोटो : सीएचपी १८१२१८-१६ केप्शन : फिल्म अभिनेता अखिलेंद्र मिश्रा

टपरा टाकीज में रिलीज हुई फि़ल्म उड़ान
खजुराहो में अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल के शुभारंभ के दूसरे दिन मंगलवार को सुबह से ही खजुराहो के विभिन्न क्षेत्रों में टपरा टॉकीज लगाई गई हैं। मेला ग्राउंड स्थित टपरा टॉकीज में फिल्म उड़ान रिलीज हुई। यह फिल्म दृष्टिबाधित को प्रेरणा देने वाली है। इस फिल्म में होशंगाबाद जिले की जिस प्रिया कीर ने अभिनय किया है, वह दृष्टिबाधित है। उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए बताया कि दृष्टिहीन बालिका या महिला किसी भी क्षेत्र में किसी भी काम में कम नहीं है। मैंने जूडो कराटे सीखा है, मध्य प्रदेश की एसएससी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुझे सम्मानित किया है और यह फिल्म बनाकर मुझे बहुत ग्रुप में गर्व महसूस हो रहा है। मैं स्वयं दृष्टिबाधित हूं। महिला हर क्षेत्र में किसी से कम नहीं है। अभिनेत्री प्रिया कीर जुड़े कराटे एक्सपर्ट भी है। मेला ग्राउंड स्थित टपरा टाकीज में सुबह 9:30 बजे से फि़ल्में दिखाई जाएंगी।

पहले दिन टपरा टॉकीजों में इन फिल्मों का हुआ प्रदर्शन

फिल्म/ निर्देशक

1 ." मेरी उड़ान "/ परेश मसीह
2 . "स्नेक" / संदीप फेलिस
3. "हम फ़ौजी"/ जीत रॉयल
4. "अनुकंपा" / अजय एस कुमार
5. "सुहना" / कृष्ण कुमार
6. "भईया लाल जी" / रविकांत सिन्हा
7. "कह गये बापू" / राजेन्द्र सिंह
8. "संथारा" / अतिशय जैन
9. "डार्विन का बंदर" / प्रदीप जाधव
10. "साइलेंट मोड़" / प्रदीप जाधव
11."शादी की कोचिंग"/ विजय तिवारी
12. "गांजे की कली"/ डॉ. योगेंद्र चौबे

आज इन फिल्मों का होगा प्रदर्शन :
फिल्म / निर्देशक

1. "जूता" / चिंतन मनावत
2. "कठोर" / करण कश्यप
3. "दिल दोस्ती" / वृजेश मौयाज़्
4. "माई एम" / राहुल
5. "फ्रेंड्स फोरेवर" / अनूप
6. "यादे" / मोहम्मद इक़वाल
7. "टाइम स्पेन" / अतिशय जैन
8. "पानी पानी की कहानी" / अमित
9. "देशी लैला विदेशी छैला" / हिमालय यादव
10. "वैटर यार्ड" / मो. इक़बाल
11. "पिता मर्म" / पायल सिंह
12. "विनायक" / एस.के. प्रसाद
13. "सोना का हठ" / आदित्य निगम
14. "यारी तेरी यारी" / राकेश साहू
15. "ब्लैक मार्केट" / अर्जुन राज
16. "स्वाभिमानी बेटी" / भरत कुरेले
17. "सो गया" / अंकित बागड़े
18. "मतदान ज़रूरी हैं" / सफी पिपरया

२० दिसंबर को यह फिल्में होंगी प्रदर्शित :

फिल्म / निर्देशक

1. "फाइनल मैच" / संतोष बादल
2. "दो फौजी" / आयुष आनंद
3. "सदमा" / रोहित गुप्ता
4. "पानी रे पानी" / धर्मेंद्र उपाध्याय
5. "पेपर स्प्रे" / अमित योगी
6. "अहसास" / अनिरुद्ध किरकिरे
7. "वाया जेल" / सुनील कुमार
8. "अदर पर्सपेक्टिव" / अतिशय जैन
9. "आत्मग्लानि" / अनुज कुमार राय
10. "कफऩ:द लास्ट वेल" / धर्मवीर भारती

21 दिसंबर को यह फिल्में दिखाई जाएंगी :

फिल्म / निर्देशक

1. "अहसास" / मनोज श्रीवास्तव
2. "एक अप्रैल" / धर्मवीर भारती
3. "नज़रिया" / अशोक मेहरा
4. "मगरूरियत" / अनुज कुमार राय
5. "कामधेनु" / देवी प्रसाद पति
6. "क्लोकिंग" / राजन ठाकुर,अनुज
7. "व्रोकेज" / सुनील शिवहरे
8. "चुलमस, कतरन" /आशुतोष मिश्रा
9. "लड़की देखन मैं चला"/समीर खांन
10. "क्लीन इंडिया हेल्दी इंडिया" / रविन्द्र चौहान
11. "मकान आपको हमाये बाप को" / अजय साहू

22 दिसंबर को यह फिल्में दिखाई जाएंगी

फिल्म / निर्देशक

1. "नो" / राहुल तिवारी
2. "अंधविश्वास" / आलोक सिन्हा
3. "रेड एंड व्हाइट" / मुकेश के
4. "प्रेरणा इंस्प्रेसन" / मुकेश के
5. "सिउतीया" / धर्मवीर भारती
6. "माई रेस्पोंसबिलिटी" /पप्पू , संकेत
7. "देव:द सन टेम्पल" / डाली
8. "सेफ़ लाइफस" / रविन्द्र चौहान
9. "निर्दोष" / नीतीश कुमार
10. "गंगा" / मनोज मानव
11. "दिल दोस्ती" / वृजेश मौर्य
13. "राघव" / रविंद्र चौहान
14. "आखिऱ क्यों?" / जितेंद्र राणा
15. "कैद" / सुनील शिवहरे
16. "आई एम रोशनी"/मनोज भाटिया
17. "डस्टविन" / एम.जी. सचिन
18. "थर्टीन ट्रब्यूटश ऑफ लव" / राहुल तिवारी
19. "गगवा" / खिरोधर सोधिया
20. "दागवा" / खिरोधर सोधिया


अंतिम दिन यह फिल्में दिखाई जाएंगी :

फि़ल्म / निर्देशक

1. "कप्तान" / गूंज
2. "ओझल" / सुनील शिवहरे
3. "हालात-2" / देवदत्त वुदोलिया
4. "टकसाल" / प्रभाकर
5. "सलाम चूंद" / सवरजीत शर्मा
6. "बंधू प्रेम" / सौरभ एस. मिश्रा
7. "लाचारी" / दिलीप राठौर
8. "मजबूरी" / नत्थूलाल
9. "नैना" / आर.पी.सोनी
10."किल्लत ऑफ वाटर"/हरीश पटेल
11. "एक पिता का संघर्ष" / सौरभ एस. मिश्रा

 

Updated On:
19 Dec 2018, 07:58:32 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।