तमिलनाडु 'नेक्स्ट" के खिलाफ

By: MAGAN DARMOLA

Published On:
Jul, 19 2019 08:04 PM IST

    • DMK और सहयोगी दल के सांसदों ने नई दिल्ली में Parliament परिसर में इस प्रस्तावित बिल के खिलाफ प्रदर्शन किया
    • विधानसभा में विशेष आकर्षण प्रस्ताव

चेन्नई. एमबीबीएस पाठ्यक्रम के अंतिम वर्ष में मेडिकल की डिग्री के लिए 'नेक्स्ट" NEXT नाम की संयुक्त परीक्षा के आयोजन का तमिलनाडु ने विरोध किया है। यह परीक्षा पीजी कोर्स में दाखिले के लिए नीट की अनिवार्यता की जगह लेगी। नई दिल्ली में संसद परिसर में डीएमके और सहयोगी दल के सांसदों ने इस प्रस्तावित बिल के खिलाफ प्रदर्शन किया।

संसद परिसर में डीएमके सांसद कनिमोझी Kanimozhi , राज्यसभा सांसद तिरुचि एन. शिवा समेत सहयोगी दल के सांसदों ने नेक्सट परीक्षा के खिलाफ तख्ती लेकर विरोध प्रदर्शन किया। सांसदों ने इस बिल के खिलाफ नारेबाजी भी की। कनिमोझी के भाई और तमिलनाडु विधानसभा में विपक्ष के नेता एम. के. स्टालिन नेक्सट परीक्षा पर विशेष आकर्षण प्रस्ताव लाए।

M.K. Stalin ने प्रस्ताव पेश किया कि पीजी मेडिकल कोर्स PG Medical Course में दाखिले के लिए जरूरी नेक्स्ट परीक्षा से तमिलनाडु को निजात दिलाई जानी चाहिए। लिहाजा राज्य सरकार केंद्र सरकार के प्रस्ताव राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग के विधेयक की खिलाफत करे। मेडिकल कॉलेज का संचालन राज्य सरकार का अधिकार है। यह हक हमें कतई नहीं छोडऩा चाहिए। अगर ऐसा होने दिया तो राज्य की मेडिकल कॉलेजों का नियंत्रण केंद्र सरकार के हाथ चला जाएगा।

इस प्रस्ताव पर स्वास्थ्य मंत्री विजय भास्कर ने जवाब दिया कि प्रस्तावित बिल पर केंद्र सरकार ने राज्य से राय मांगी थी। उस वक्त हमने विरोध दर्ज कराया था कि यह परीक्षा देश के संघीय शासन व्यवस्था के खिलाफ है। एआईएडीएमके भी इस बिल के विरोध में है।

Published On:
Jul, 19 2019 08:04 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।