देशी गाय एक चलता-फिरता डॉक्टर

Ashok Singh Rajpurohit

Publish: Sep, 12 2018 11:36:34 AM (IST)

-प्रांत गोसेवा कार्यालय गृह प्रवेश समारोह एवं नंदिनी गोउत्पाद वितरण केन्द्र शुरू

देशी गाय के संरक्षण एवं संवद्र्धन के उद्देश्य से राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) तमिलनाडु के गोसेवा विभाग के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि गो दुग्ध में कैल्शियम, सोडियम, पोटेशियम, लोहा, खनिज तत्व मौजूद हैं जो हमारे विकास के लिए जरूरी हंै। साथ ही विटामिन भी प्रचुर मात्रा में है। गो दूध की बनाई छाछ एवं दही भी पौष्टिक है।

 

चेन्नई. देशी गाय एक चलता-फिरता डॉक्टर है। भारतीय नस्ल की गायों के दूध, घी, गोमूत्र एवं गोबर में जो गुण हैं वे विदेशी गायों में नहीं। गाय के सभी उत्पादों के प्रयोग से बीमारी खत्म की जा सकती।
राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के अखिल भारतीय गोसेवा प्रमुख शंकरलाल ने यह बात कही। वे मंगलवार को महाकवि भारती नगर में प्रांत गोसेवा कार्यालय गृह प्रवेश समारोह एवं नंदिनी गोउत्पाद वितरण केन्द्र का उद्घाटन के बाद आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे। देशी गाय के संरक्षण एवं संवद्र्धन के उद्देश्य से राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) तमिलनाडु के गोसेवा विभाग के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि गो दुग्ध में कैल्शियम, सोडियम, पोटेशियम, लोहा, खनिज तत्व मौजूद हैं जो हमारे विकास के लिए जरूरी हंै। साथ ही विटामिन भी प्रचुर मात्रा में है। गो दूध की बनाई छाछ एवं दही भी पौष्टिक है। इनके नित्य सेवन से असाधारण आरोग्य लाभ मिलता है। उन्होंने कहा कि वात, पित्त एवं कफ को सम रखने से किसी भी प्रकार की कोई बीमारी नहीं होती।
गोसेवा विभाग तमिलनाडु के प्रांत गोसेवा प्रमुख कल्याणसिंह ने स्वागत भाषण में कहा कि संघ का गोसेवा विभाग देश भर में कार्य कर रहा है। तमिलनाडु में भी सकारात्मक परिणाम सामने आए हैं। चेन्नई में गो उत्पादों की मांग बढ़ी है। देशी गाय के संरक्षण एवं संवद्र्धन के उद्देश्य से राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) तमिलनाडु के गोसेवा विभाग के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि गो दुग्ध में कैल्शियम, सोडियम, पोटेशियम, लोहा, खनिज तत्व मौजूद हैं जो हमारे विकास के लिए जरूरी हंै। साथ ही विटामिन भी प्रचुर मात्रा में है। गो दूध की बनाई छाछ एवं दही भी पौष्टिक है।
इस अवसर पर अखिल भारतीय सह गोसेवा प्रमुख अजीतप्रसाद महापात्र, अखिल भारतीय प्रशिक्षण प्रमुख केईएन राघवन, भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड के केन्द्रीय कमेटी सदस्य सुनील मानसिंघा समेत अन्य गणमान्य लोग मौजूद थे।

More Videos

Web Title "Program organized for the purpose of conservation of the country cow"