BJP विधायक साधना सिंह को मायावती पर अमर्यादित टिप्पणी महंगी पड़ी, बसपा ने मुकदमा दर्ज करने को दी तहरीर

By: Mohd Rafatuddin Faridi

Updated On: 20 Jan 2019, 09:49:08 PM IST

  • सोशल मीडिया में विधायक साधना सिंह का बयान पर कथित खेद जताने का पत्र भी हो रहा है वायरल।

चंदौली . बसपा सुप्रीमो मायावती पर अमर्यादित बयान देकर मुगलसराय की भाजपा विधायक साधना सिंह बुरी फंसी हैं। उनकी मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं। महिला आयोग ने इसका संज्ञान लिया है और उन्हें नाटिस भेजने की तैयारी में हैं। दूसरी ओर अब मामला पुलिस तक पहुंच गया है। बसपा की ओर से उनके खिलाफ उसी थाने में तहरीर दी गयी है जहां उन्होंने बयान दिया था।

 

रविवार को दिन में बहुजन समाज पार्टी के नेताओं ने विरोध प्रदर्शन कर साधना सिंह का पुतला फूंका तो शाम को बसपा के वाराणसी मंडल के मुख्य जोनल इंचार्ज रामचन्द्र गौतम ने उनके खिलाफ चंदौली के बबुरी थाने में तहरीर देकर एससी/एसटी एक्ट में मुकदमा दर्ज करने की मांग की। तहरीर में लिखा गया है कि यह मायावती ही नहीं बल्कि पूरे दलित समाज की नारियों का अपमान है। कहा गया है कि इस बयान का मकसद बसपा सुप्रीमो को अपमानित करना था।

 

 

उधर रविवार की शाम होते-होते जब मामला बढ़ा तो बयान के बाद भूमिगत हुईं साधना सिंह का कथित तौर पर खेद जताने वाला पत्र सामने आ गया। यह पत्र उन्होंने मीडिया को बुलाकर जारी नहीं किया बल्कि सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। इसमें मायावती पर अमर्यादित टिप्पणी के लिये खेद जताते हुए सफाई दी गयी है कि उनके बयान के पीछे उन्हें अपमानित करने का इरादा नहीं था। बल्कि दो जून 1995 को गेस्ट हाउस कांड में मायावती जी को बीजेपी द्वारा की गयी मदद की याद दिलानी थी। इस पत्र में माफी के बजाय शब्दों से कष्ट पहुंचने पर खेद शब्द का इस्तेमाल किया गया है।

By Santosh jaiswal

Updated On:
20 Jan 2019, 08:37:45 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।