टायर में नाइट्रोजन भरवाने से होते हैं इतने फायदे, जानेंगे तो हमेशा यही भरवाएंगे

By: Pragati Vajpai

Published On:
Jul, 11 2019 01:30 PM IST

  • टायर में नाइट्रोजन गैस भरवाने की सलाह तो कई बार लोग देते हैं लेकिन उन्हें इसके फायदे नहीं पता होता है । यही वजह है कि हमारे देश में आज भी लोग नाइट्रोजन एयर भराने से कतराते हैं।

नई दिल्ली : कार हो या बाइक हर वाहन के लिए टायर बेहद जरूरी होते हैं। दूसरे शब्दों में टायरों को कार की जान कहा जाए तो ये बिल्कुल भी गलत नहीं होगा। इसीलिए आज हम आपको टायरों का ख्याल कैसे रखना है इस बारे में बताएंगे। कई बार आपको मैकेनिक ने सलाह दी होगी कि टायरों में साधारण हवा की जगह नाइट्रोजन गैस (Nitrogen Gas) भरवानी चाहिए । खास तौर पर जब एक्सप्रेस वे या हाइवे पर चलना हो तो लोग टायरों में नॉर्मल हवा की जगह नाइट्रोजन गैस भरने की सलाह देते हैं। चलिए आपको बताते हैं कि आखिर क्यों टायर्स में नॉर्मल हवा की जगह नाइट्रोजन एयर भरवाने के लिए कहा जाता है।

गाड़ियों में नाइट्रोजन हवा भरवाना होगा जरूरी, जल्द बन सकता है नियम

नाइट्रोजन गैस के फायदे-

नाइट्रोजन गैस रबर की वजह से टायर में कम बढ़ पाती है, जिसकी वजह से टायर में प्रेशर ठीक रहता है। इसलिए फॉर्मूला वन रेसिंग कारों के टायर्स में नाइट्रोजन गैस ही भरी जाती है। जब टायर में नाइट्रोजन भरी जाती है तो इससे टायर के अंदर के ऑक्सीजन डाल्यूट हो जाते हैं, ऑक्सीजन में मौजूद पानी खत्म हो जाता है और रिम भी सुरक्षित रहते हैं।

Bajaj ने बेहद सस्ती कीमत पर लॉन्च की CT 110, जानें क्या है नया

साधारण हवा में एक समस्या ये होती है कि आर्द्रता की वजह से ये फैलती है। टायर को नुकसान होता है, वहीं इसमें मौजूद वेपर टायर में ज्यादा प्रेशर डालते हैं, टायर की रिम पर भी बुरा असर होता है।आपको बता दें कि साइंस के हिसाब से नाइट्रोजन गैस टायर को गर्मियों के मौसम में ठंडा रखती है। साइंस के अनुरूप बात करें तो हमारे आसपास मौजूद हवा में नाइट्रोजन गैस 78 प्रतिशत है, 21 प्रतिशत ऑक्सीजन है और बाकि 1 प्रतिशत में कार्बन डाई ऑक्साइड गैस हैं। सभी गैसें गर्मी में फैल जाती हैं और ठंड में सिकुड़ जाती हैं। कुछ ऐसा ही टायर की हवा में भी होता है, जिससे गर्मियों के मौसम में टायर पर ज्यादा प्रेशर पड़ता है। इसलिए गर्मियों के मौसम में टायर की हवा को समय-समय पर चेक करते रहना चाहिए।

SBI ग्राहकों के लिए खुशखबरी से लेकर किसानों को मिलें 1200 करोड़ के तोहफे जैसी बड़ी buisness trending खबरें

फॉर्मूला वन रेसिंग की कारों के टायरों में भी इसलिए नाइट्रोजन गैस भरी जाती है। अगर टायरों में नाइट्रोजन गैस भरवाएंगे तो उसके लिए 100 से 150 रुपये देने होंगे वहीं सामान्य हवा के लिए सिर्फ 5 से 10 रुपये देने होंगे।

Published On:
Jul, 11 2019 01:30 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।