चीन में ब्लाॅक हुअा माइक्रोसाॅफ्ट का सर्च इंजन

By: Ashutosh Kumar Verma

Updated On:
24 Jan 2019, 08:56:44 PM IST

  • माइक्रोसॉफ्ट ने गुरुवार को घोषणा की है कि उसके सर्च इंजन बिंग को चीन में ब्लॉक कर दिया गया है, जो कि वहां चलनेवाला आखिरी प्रमुख विदेशी सर्च इंजन था।

नर्इ दिल्ली। माइक्रोसॉफ्ट ने गुरुवार को घोषणा की है कि उसके सर्च इंजन बिंग को चीन में ब्लॉक कर दिया गया है, जो कि वहां चलनेवाला आखिरी प्रमुख विदेशी सर्च इंजन था। फाइनेंशियल टाइम्स की रिपोर्ट में बताया गया कि चीन के यूजर्स ने सोशल मीडिया पर लिखा कि वे बिंग के चीनी साइट सीएनडॉटबिंगडॉटकॉम को एक्सेस करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन खुल नहीं रहा है। रिपोर्ट में कहा गया, "सरकारी आदेश के बारे में जानकारी रखनेवाले दो सूत्रों ने पुष्टि की है कि बिंग को ब्लॉक कर दिया गया है। एक सूत्र ने बताया कि चीन प्रमुख सरकारी दूरसंचार कंपनी चायना यूनीकॉम ने पुष्टि की है कि सरकार ने बिंग को ब्लॉक करने के आदेश दिए हैं।"


न्यूयार्क टाइम्स को दिए बयान में माइक्रोसॉफ्ट ने कहा, "हम पुष्टि करते हैं कि फिलहाल बिग को चीन में नहीं खोला जा सकता है और हम अगले कदम की तैयारी कर रहे हैं।" यह फिलहाल पता नहीं चल पाया है कि बिंग को चीन में क्यों ब्लॉक किया गया। चीन के इंटरनेट नियामक ने अभी तक इस पर कोई टिप्पणी नहीं की है।


माइक्रोसॉफ्ट ने हाल ही में दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनी बन कर एप्पल को पीछे छोड़ दिया था। उसके बाद अमेरिकी दिग्गज को चीन में इस नई चुनौती का सामना करना पड़ रहा है। चीन में शीर्ष इंटरनेट प्लेटफार्म्स जैसे फेसबुक, ट्विटर और यूट्यूब वहां की सरकार के वृहद सेंसरशिप तंत्र से सालों से ब्लॉक है और इसे द ग्रेट फायरवॉल के नाम से जाना जाता है। गूगल ने अपनी सेवाएं साल 2010 में चीन में बंद कर दी थी।
Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।

Updated On:
24 Jan 2019, 08:56:44 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।