विदेशी पर्यटक नहीं देख पाया चित्रशाला, लौटा निराश

By: DEVENDRA DEVERA

Published On:
Sep, 12 2018 09:47 PM IST

 
  • जर्मनी से आए विदेशी पर्यटक को उस वक्त निराश होना पड़ा जब वो छोटीकाशी बूंदी में चित्रशाला देखने से वंचित रह गया।

-शुल्क मांगने पर जताई नाराजगी, पुलिस को दी शिकायत
बूंदी. जर्मनी से आए विदेशी पर्यटक को उस वक्त निराश होना पड़ा जब वो छोटीकाशी बूंदी में चित्रशाला देखने से वंचित रह गया। विदेशी पर्यटक ने इस मामले में ५०० रुपए मांगने की शिकायत कोतवाली पुलिस को लिखित में सौंपी हैं। वहीं सहायक पर्यटन अधिकारी को भी इस बाबत शिकायत दी है।
विदेशी पर्यटक स्मिथ ने कोतवाली पुलिस को रिपोर्ट देकर बताया कि वो सोमवार को बूंदी की चित्रशाला देखने के लिए गढ़ पैलेस पहुंचा तो टिकिट विंडो के स्टाफर ने गढ़ पैलेस में प्रवेश शुल्क के पांच सौ रुपए मांगे। उसने बोर्ड पर चित्रशाला की फ्री एंट्री लिखे होने की बात कहकर नाराजगी जताई। काफी प्रयास के बाद भी वह चित्रशाला नहीं देख पाया। इस पर वह पर्यटन कार्यालय पहुंचा और सहायक पर्यटन अधिकारी को इसकी शिकायत की। इस पर अधिकारी ने पर्यटक की शिकायत को भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग कोटा भेजने की बात कही। इससे संतुष्ट नहीं होने पर पर्यटक कोतवाली पहुंचा।
-विदेशी पर्यटक से गढ़ पैलेस में प्रवेश के लिए पांच सौ रुपए मांगने की शिकायत सौंपी है। शिकायत को भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग कोटा को कार्रवाई के लिए भिजवा दिया गया है।
प्रेमशंकर सैनी, सहायक पर्यटन अधिकारी,बूंदी
-विदेशी पर्यटक ने कोतवाली पहुंचकर गढ़ पैलेस में प्रवेश के लिए पांच सौ रुपए मांगने की रिपोर्ट दर्ज कराई है। जिसकी जांच जारी है।Ó
रामपाल, हैड कॉस्टेबल, थाना कोतवाली, बूंदी
'गढ़ पैलेस में चित्रशाला देखने का कोई शुल्क नहीं है, लेकिन गढ़ पैलेस में प्रवेश का शुल्क निर्धारित किया हुआ है। उसी का पैसा विदेशी पर्यटक से मांगा गया था।
हरीश गौड़, गढ़ पैलेस संचालक, बूंदी

Published On:
Sep, 12 2018 09:47 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।