राजपूत सिर कटाने में पीछे नहीं रहे, अब सिर गिनाने में नहीं रुकेंगे - कालवी

By: Nagesh Sharma

Published On:
Sep, 12 2018 12:39 PM IST

  • राजपूत करणी सेना के प्रधान संस्थापक लोकेन्द्र सिंह कालवी ने कहा कि राजपूतों ने सिर कटाने में कमी नहीं छोड़ी तो अब सिर गिनाने में भी पीछे नहीं

बूंदी. राजपूत करणी सेना के प्रधान संस्थापक लोकेन्द्र सिंह कालवी ने कहा कि राजपूतों ने सिर कटाने में कमी नहीं छोड़ी तो अब सिर गिनाने में भी पीछे नहीं हटेंगे। 23 सितम्बर को चित्तौड़ में जौहर स्वाभिमान सम्मेलन होगा जिसमें राजपूत अपनी शक्ति का प्रदर्शन करेंगे। इस दिन 12वां स्थापना दिवस भी रहेगा।
कालवी मंगलवार को बूंदी में समाज के लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोई तो बात होगी, क्योंकि आज करणी सेना की बात देश सुनता है। इस सम्मेलन में पद्मावत और आरक्षण मसले की समीक्षा करेंगे। एससी-एसटी एक्ट को लेकर मंथन किया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने व्यवस्था दी कि पहले जांच करो फिर गिरफ्तार करो इसी मसले की बात कर रहे हैं। इसका कई दलित संगठनों ने भी समर्थन किया है। प्रजातंत्र में सबकुछ हो सकता है। राजनीतिक दलों ने भी अपने चुनावी घोषणा पत्रों में आर्थिक आधार पर आरक्षण की बात कही है, हालांकि कोई इसे लागू नहीं कर रहा। कालवी ने कहा कि जनसमर्थन जुटे तो बड़े-बड़े फैसले बदले जाते रहे हैं। इसी मकसद को लेकर राजपूत जुटेंगे। आज जो सवर्णों की बात की जाती है यह राजपूतों पर लागू नहीं है। राजपूत सवर्ण नहीं बल्कि सामान्य हैं। यही इन्हें सम्बोधन किया जाना चाहिए।
कालवी ने बूंदी के राजपूत समाज से आह्वान किया कि वे अधिक संख्या में चित्तौड़ पहुंचे।
इस दौरान राष्ट्रीय वरिष्ठ उपाध्यक्ष दिलीप सिंह खजूरी, प्रदेश उपाध्यक्ष अजय सिंह भदोरिया, जिला संरक्षक पृथ्वीसिंह हाड़ा, जिलाध्यक्ष हिम्मत सिंह हाड़ा, जिला उपाध्यक्ष अर्जुन सिंह हाड़ा, जितेन्द्र सिंह, अनिरुद्ध सिंह, राजेन्द्र सिंह, विक्रम सिंह हाड़ा, पुष्पेन्द्र सिंह आदि मौजूद थे।

बदसलूकी करने वालों के खिलाफ सौंपी रिपोर्ट
बूंदी. रैगर मोहल्ला निवासी कमलेश वर्मा ने मंगलवार को कोतवाली थाने के थानाधिकारी को उसके साथ बसलूकी करने वाले आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की रिपोर्ट सौंपी।
रिपोर्ट में बताया कि आरोपियों ने सोमवार को उसके साथ लंकागेट रेन बसेरा के पीछे ले जाकर अभद्रता की और खंभे से बांधने का प्रयास भी किया। वहीं दूसरी ओर इस घटना से रैगर समाज के लोगों में रोष व्याप्त है। चुन्नीलाल चंदोलिया, सत्यनारायण वर्मा, मोडूलाल , बाबूलाल वर्मा, जितेन्द्र वर्मा, सौरभ वर्मा ने कहा कि इस संबंध में शीघ्र ही कार्रवाई नहीं हुई तो आंदोलन किया जाएगा।

 

Published On:
Sep, 12 2018 12:39 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।