अब इस एप में सुरक्षित रहेगा आपका डाटा, डीजी लॉकर को करना होगा डाउनलोड

By: Narendra Agarwal

Updated On:
10 Sep 2019, 12:31:43 PM IST

  • वाहनों व अन्य जरूरी कागजात रखने और उन्हें संभालने की जिम्मेदारी से अब मुक्ति मिल जाएगी।जी हां! डिजीलॉकर आपके सभी जरूरी कागजातों को सुरक्षित

बूंदी. वाहनों व अन्य जरूरी कागजात रखने और उन्हें संभालने की जिम्मेदारी से अब मुक्ति मिल जाएगी।जी हां! डिजीलॉकर आपके सभी जरूरी कागजातों को सुरक्षित रखेगा। केंद्र सरकार ने डिजीटल लॉकर योजना शुरू की है। इसके इस्तेमाल से आपको न सिर्फ कागजी दस्तावेज साथ रखने के झंझट से छुटकारा मिलेगा, बल्कि आपके मूल दस्तावेज खोने या चोरी होने का डर भी नहीं रहेगा। इतना ही नहीं यहां रखे आपके ई-दस्तावेज पूरी तरह सुरक्षित रहेंगे।
इस संबंध में परिवहन विभाग के शासन सचिव एवं आयुक्त राजेश यादव ने प्रदेश के सभी प्रादेशिक व जिला परिवहन अधिकारियों को आदेश जारी कर इस एप को शुरू करने के निर्देश दिए। इस एप के माध्यम से लोग अपने जरूरी कागजात की डिजिटल कॉपी रख सकेंगे। इस योजना के बाद अगर आपने अपने डिजीटल लॉकर में अपनी गाड़ी की आरसी और अपना ड्राइविंग लाइसेंस रखा है तो आपको इसकी हार्ड कॉपी लेकर चलने की जरूरत नहीं पड़ेगी। यातायात पुलिस के मांगने पर यहीं डिजिटल कॉपी मान्य होगी। डिजिटल लॉकर के लिए आधार कार्ड की जरूरत होगी।

यों करें रजिस्टर्ड
डिजीलॉकर में अपने कागजात सुरक्षित करने से पहले आपको साइन अप करने की जरूरत होगी। जिसमें आप आधार नम्बर और उससे जुड़े मोबाइल नम्बर के जरिए एनरोलमेंट कैंप में रजिस्टर्ड कर सकेंगे। ओटीपी के जरिए आप डिजीलॉकर में पहली बार जा सकते हैं, लेकिन इसके बाद आपको ओटीपी की जरूरत नहीं होगी।

यह दस्तावेज रख सकेंगे
डिजीलॉकर में पैन कार्ड, शैक्षिक प्रमाण पत्र, जाति और जन्म प्रमाण-पत्र राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, गाड़ी का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, स्कूल-कॉलेज की मार्कशीट, अहम निजी- सरकारी दस्तावेज रख सकेंगे।

डाटा पूरी तरह रहेगा सुरक्षित
डिजिटल लॉकर में आपके दस्तावेज बैंक खाते या नेट बैंकिंग की तरह ही सुरक्षित होंगे। इसमें आपका यूजर आईडी आधार कार्ड और मोबाइल नंबर से लिंक होगा। जब भी आप डिजिटल लॉकर में काम करेंगे तो पहले आपके मोबाइल पर ओटीपी आएगा। इसे डालने के बाद ही डिजीलॉकर को खोला जा सकेगा।

करेंगे आमजन को जागरूक, नहीं कटेगा चालान
आदेश में इस एप को वाहन चालकों की ओर से डाउनलोड करवाकर वाहन के पंजीयन प्रमाण पत्र तथा चालक लाइसेंस की डिजिटल प्रति संधारित करने की प्रक्रिया समझाई जाएगी।

‘इस एप के माध्यम से आमजन को जागरूक किया जाएगा। डिजीलॉकर एप में आमजन अपने जरूरी कागजात सुरक्षित रख सकेगा। इस एप के माध्यम से कागजातों को साथ रखने के झंझट से लोगों को मुक्ति मिलेगी।’
शिव लाल, परिवहन निरीक्षक, बूंदी

Updated On:
10 Sep 2019, 12:31:43 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।