घुमा दे म्हारा बालाजी घुमर घुमर घोटो

By: pankaj joshi

Updated On:
10 Sep 2019, 01:06:37 PM IST

  • कस्बे चल रहे लोकदेवता वीर तेजाजी महाराज के मेले में दूसरे दिन जलझुलनी एकादशी के अवसर पर महन्त महेन्द्र दास महाराज द्वारा विशाल भजन संध्या का कार्यक्रम आयोजित किया गया।

नोताडा. कस्बे चल रहे लोकदेवता वीर तेजाजी महाराज के मेले में दूसरे दिन जलझुलनी एकादशी के अवसर पर महन्त महेन्द्र दास महाराज द्वारा विशाल भजन संध्या का कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमे कलाकारों द्वारा विभिन्न भजनों की प्रस्तुतियां दी गई। कार्यक्रम की शुरुआत गायक कलाकार भगवान जोशी ने गणेश वन्दना के साथ की। रामचरण लख्खा ने घुमा दे म्हारा बालाजी घुमर घुमर घोटो, श्रीराम जानकी बैठे है मेरे सीने में जैसे भजनों की प्रस्तुतियां देकर श्रोताओं को भक्ति रस में डुबो दिया। वही गायक कीटï्टू जांगीड ने तेजाजी लीलण घोडी उपर लागो घणा रुपाला, रुणझुण बाजे घुघरा, काली कमली वाला मेरा यार है, बाके बिहारी कजरारे तेरे मोटे मोटे नैन, जैसे भजनों की प्रस्तुतियां दी तो महिलाओं ने जमकर नृत्य किया। शालु मारवाड़ी ने ओ सावरे बनोगे राधा तो जानोगे, श्याम के प्यार में ऐसी महफिल सजाई मजा आ गया जैसे भजन सुनाये। डांसर नीतू सिंह व शालु मारवाड़ी ने भजनों पर नृत्य की प्रस्तुतियां दी। इस दौरान मंच संचालन कृष्णमुरारी भारतीय ने किया। मेला समिति के अध्यक्ष ब्रजराज चौधरी, कोषाध्यक्ष मनोज साहु, महेन्द्र मीणा, पप्पु खटाना ने कलाकारों का माला पहनाकर स्वागत किया।

Updated On:
10 Sep 2019, 01:06:37 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।