प्रकृति के साथ चेहरे की रंग को इस तरहे निकारें

Kamal Rajpoot

Publish: Aug, 28 2017 07:23:00 (IST)

Body & Soul

यदि आपकी त्वचा तैलीय है तो चेहरे की सफाई के लिए मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग करें

हमारी साथी और चिकित्सक है प्रकृति। इसके अनमोल खजाने में उन जड़ी-बूटियों का भंडार है, जो हमारे लिए वरदान हैं। रंगरूप की देखभाल में प्राकृतिक साधनों का सहारा लिया जाए तो त्वचा खिल जाती है।

मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग करें
सौंदर्य के लिए महिलाएं अक्सर मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग करती हैं। यदि आपकी त्वचा तैलीय है तो चेहरे की सफाई के लिए मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग करें। इसमें गुलाबजल मिलाकर पेस्ट बनाएं और चेहरे पर लगाएं। 10-15 मिनट बाद मुंह धो लें। रूखी त्वचा के लिए मुल्तानी मिट्टी में शहद और ग्लिसरीन मिलाना जरूरी है वर्ना त्वचा ज्यादा खुश्क हो सकती है। मसूर की दाल रात को पानी में भिगो दें। सुबह इसे कच्चे दूध में पीसकर पेस्ट बना लें। अब इसे मुंह पर लगाकर चेहरे को रगड़ें। नियमित त्वचा में निखार आएगा।

पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं
थोड़े से आटे में सरसों का तेल व हल्दी मिलाकर पेस्ट बना लें। फिर इस पेस्ट की लोई बना कर चेहरे पर रगड़ें। इससे त्वचा की रंगत में निखार आता है। अगर शरीर में टॉक्सिन्स यानी विषैले पदार्थों की मात्रा बढ़ी हुई है तो त्वचा पर कील, मुंहासे और झुर्रियां आने लगती हैं। इन्हें दूर करने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं।

तली हुई चीजों से परहेज करें
ज्यादा मिर्च-मसाले, तली हुई चीजों से परहेज करें। हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक, मेथी, सरसों, कच्चा प्याज और बथुए की सब्जी बनाकर खाएं। ये सब्जियां हमारे पाचनतंत्र को दुरुस्त रखती है और पेट की सफाई करने का काम करती हैं।

ठंडे पानी से स्नान करें
यदि असमय ही झुर्रियां नजर आने लगेें तो मड पैक यानी मिट्टी का लेप लगाएं। इस पैक को पूरे शरीर पर लगाकर आधा घंटा लगे रहने दें और बाद में ठंडे पानी से स्नान करें। इससे रोमछिद्र खुलते हैं, शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकलते हैं और त्वचा मुलायम बनती है।

Web Title "Natural Beauty tips for Face"