फेसबुक यूजर्स नशेड़ी की तरह ले सकते हैं जोखिमभरे फैसले : शोध

फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेटफाम्र्स का अत्यधिक प्रयोग करने वाले यूजर्स फैसले करने में उतने ही बुरे हो सकते हैं, जितना कोई नशेड़ी होता है। एक नए शोध में यह जानकारी मिली है।

फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेटफाम्र्स का अत्यधिक प्रयोग करने वाले यूजर्स फैसले करने में उतने ही बुरे हो सकते हैं, जितना कोई नशेड़ी होता है। एक नए शोध में यह जानकारी मिली है।

शोध के मुख्य लेखक और अमेरिका के मिशिगन स्टेट यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर डार मेशी ने कहा कि धरती पर करीब एक तिमाही मनुष्य सोशल मीडिया का प्रयोग करते हैं, और इनमें से कुछ लोगों को इसकी गलत लत लग गई है, जो कि इन साइटों के अत्यधिक प्रयोग करने से लगती है।

मेशी ने कहा कि मेरा मानना है कि सोशल मीडिया का जबदस्त लाभ है, लेकिन इसका एक स्याह पहलू भी है, जब लोग अपने आप को इससे दूर नहीं रख सकते। हमें इस अभियान को बेहतर ढंग से समझने की आवश्यकता है, ताकि हम यह निर्धारित कर सकें कि अत्यधिक सोशल साइट्स के उपयोग को एक लत माना जाना चाहिए।

यह शोध जर्नल ऑफ बिहेबियर एडिक्शंस में प्रकाशित किया गया है। शोधकर्ताओं ने प्रतिभागियों को आयोवा गैम्बलिंग टास्क पूरा करने दिया। इस टास्क का प्रयोग सामान्यत: मनोवैज्ञानिक निर्णय लेने की क्षमता को नापने के लिए करते हैं। इस टास्क को पूरा करने में सोशल मीडिया की लत रखने वाले लोगों ने किसी नशेड़ी की भांति ही सही चयन करने में गलतियां कीं। जिन लोगों ने जितनी अच्छी तरह से टास्क पूरा किया, उन्हें सोशल साइटों की लत उतनी ही कम थी।

विकास गुप्ता Desk
और पढ़े
Web Title: Facebook users can take risky decisions like addicts
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।