छात्रसंगठन ग्रामीण विद्यार्थियों को रिझाने की तैयारी

By: Nikhil Swami

Updated On:
13 Aug 2019, 11:47:24 AM IST

  • student organization preparation rural student in bikaner छात्रसंघ चुनाव के लिए सभी छात्रसंगठनों ने अपने एजेंडे तैयार कर चुनाव कमेटियां बना ली हैं। इन एजेंडों के तहत एबीवीपी, एनएसयूआइ व एसएफआइ एेसे उम्मीदवार को मैदान में उतारेगी, जो मूल कार्यकर्ता हो, छात्रों से जुड़ाव तथा विद्यार्थियों की समस्याएं हल कर सके।

बीकानेर. छात्रसंघ चुनाव के लिए सभी छात्रसंगठनों ने अपने एजेंडे तैयार कर चुनाव कमेटियां बना ली हैं। इन एजेंडों के तहत एबीवीपी, एनएसयूआइ व एसएफआइ एेसे उम्मीदवार को मैदान में उतारेगी, जो मूल कार्यकर्ता हो, छात्रों से जुड़ाव तथा विद्यार्थियों की समस्याएं हल कर सके। एजेंडे में ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थियों को रिझाने, महाविद्यालय की विभिन्न समस्याओं को भी शामिल किया गया है।

 

 

राजकीय डूंगर महाविद्यालय और कन्या महाविद्यालय में ज्यादातर छात्र-छात्राएं ज्यादातर ग्रामीण इलाके से कई किलोमीटर का सफर तय कर पढऩे आते हैं। एेसे में इन छात्र-छात्राओं की सुविधाओं के लिए छात्रसंगठनों ने एजेंडे तैयार किए हैं।

 

वहीं छात्रसंगठन अपनी चुनाव कमेटी के साथ पूर्व छात्रनेताओं तथा संगठन के बड़े पदाधिकारियों से विचार-विमर्श कर जातीय समीकरण बैठाने लग गए। प्रत्येक छात्रसंगठन जिताऊ उम्मीदवार की तलाश करते नजर आ रहे हैं।

 

 

यह है एबीवीपी का एजेंडा
- प्रत्येक महाविद्यालय में अंतिम विद्यार्थी तक की समस्या का समाधान।

- मूल कार्यकर्ता को टिकट मिले।
- सभी महाविद्यालयों के प्रमुख चुनावी मुद्दों का हल।

- छात्र शक्ति को राष्ट्र शक्ति बनाने के लिए प्रयत्न।
- सरकार की सभी योजनाओं का प्रत्येक विद्यार्थियों को लाभ मिले।

- छात्राओं की सुरक्षा को प्रथम विषय बनाकर हल किया जाएगा।

Updated On:
13 Aug 2019, 11:47:24 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।