75 प्रतिशत मतदान, 11.76 लाख ने डाले वोट, रात आठ बजे पूरे जिले में सम्पन्न हुआ मतदान

By: jay kumar bhati

Updated On:
08 Dec 2018, 10:19:27 AM IST

  • बीकानेर. विधानसभा चुनाव में शुक्रवार को जिले के सातों विधानसभा क्षेत्रों में औसतन ७५.०३ फीसदी मतदान हुआ। मतदान के प्रति वोटरों में उत्साह रहा।


बीकानेर. विधानसभा चुनाव में शुक्रवार को जिले के सातों विधानसभा क्षेत्रों में औसतन ७५.०३ फीसदी मतदान हुआ। मतदान के प्रति वोटरों में उत्साह रहा। जिले के कुल १५ लाख ६७ हजार ७०८ मतदाताओं में से ११ लाख ७६ हजार २०९ मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया। कोलायत और नोखा विधानसभा में प्रत्याशियों के समर्थकों में भिड़त हुई लेकिन, पुलिस के व्यापक सुरक्षा बंदोबस्त के चलते मतदान प्रभावित नहीं हुआ। पिछले विधानसभा चुनाव-२०१३ में भी मतदान ७५ प्रतिशत ही हुआ था। खाजूवाला में पिछले चुनाव के मुकाबले करीब तीन फीसदी मतदान कम हुआ है। श्रीडूंगरगढ़ और नोखा विधानसभा में भी मतदान प्रतिशत में मामूली कमी रही। वहीं कोलायत विधानसभा क्षेत्र में गत चुनाव के मुकाबले करीब ढाई प्रतिशत मतदान अधिक हुआ है।

 

जिले के सभी १५७५ पोलिंग बूथों पर मतदान सुबह ८ बजे शुरू हो गया और शाम ५ बजे तक मतदान केन्द्रों पर पहुंचे वोटरों से मतदान कराया गया। एेसे में जिले में करीब दो दर्जन मतदान केन्द्रों पर शाम ५ बजे के बाद भी मतदान हुआ। रात करीब ८ बजे सभी जगह मतदान की प्रक्रिया सम्पन्न हो गई। विधानसभा चुनाव २०१३ में जिले में ७५.६४ प्रतिशत मतदान हुआ था। वही अबकी बार ७५ प्रतिशत मतदान हुआ हैं। डाक मतपत्र इससे अलग है।

 

यहां शाम ५ बजे बाद भी चला मतदान
निर्वाचन विभाग के निर्देशानुसार शाम ५ बजे तक मतदान केन्द्रों पर पहुंचे वोटरों से मतदान कराया गया। एेसे में देर शाम खाजूवाला विधानसभा क्षेत्र में ७, श्रीडूंगरगढ़ में ३, श्रीकोलायत में ४, नोखा में ६, लूणकरनसर में १, बीकानेर पूर्व विधानसभा क्षेद्ध में ३ पोलिंग बूथों पर मतदान हुआ।

 

२१ शिकायतें पहुंची नियंत्रण कक्ष
जिले में मतदान के दौरान पोलिंग स्टेशनों पर अव्यवस्था, धमकाने, धीमी पोलिंग कराने तथा फर्जी मतदान आदि को लेकर २१ शिकायतें जिला मुख्यालय स्थित चुनाव नियंत्रण कक्ष तक पहुंची। हालांकि निर्वाचन विभाग ने जांच में फर्जी मतदान की शिकायत को खारिज कर दिया। अव्यवस्था की शिकायत का समाधान तुरंत कराने के लिए अधिकारी सक्रिय रहे।

 

मशीनों में खराबी
विधानसभा चुनाव के दौरान कई मतदान केन्द्रों में स्थापित की गई बैलेट यूनिट, कंट्रोल यूनिट और वीवीपैट मशीनों में तकनीकी खराबी के चलते उन्हें बदला गया। ईवीएम मशीनों में तकनीकी खराबी पर नजर रखने के लिए गठित किए ईएमएमसी प्रकोष्ठ ने मतदान सम्पन्न होने पर निर्वाचन आयोग को रिपोर्ट भेजी। प्रकोष्ठ में अधीक्षण अभियंता श्याम सुन्दर सुथार, शरद कुमार माथुर और सहायक निदेशक जनसम्पर्क विकास हर्ष शामिल थे। रानी बाजार औद्योगिक क्षेत्र स्थित खादी मंदिर मतदान केन्द्र में भी इवीएम मशीनों में खराबी का आरोप लगाते हुए यहां मतदान करने पहुंचे लोगों ने रोष व्यक्त किया। पाबूबारी राजकीय स्कूल में सुबह आठ बजे मशीन के नहीं चलने से लोगों विरोध जताया।

Updated On:
08 Dec 2018, 10:19:27 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।