बीस दिन से पेयजल संकट, मवेशी भटकने को मजबूर

By: Atul Acharya

Updated On:
11 Sep 2019, 07:10:19 AM IST

  • bikaner news- ग्राम पंचायत बांगडसर स्थित मालाराम गर्ग की ढाणी में बना जलहौद पिछले बीस दिन से खाली है। इसको लेकर ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।

बज्जू. ग्राम पंचायत बांगडसर स्थित मालाराम गर्ग की ढाणी में बना जलहौद पिछले बीस दिन से खाली है। इसको लेकर ग्रामीणों में रोष व्याप्त है। जलहौद व पशुखेली सूखने से आवारा पशुओं के लिए आवारा पशु प्यास से व्याकुल भटक रहे हैं। दलित जनशक्ति के करणाराम गर्ग ने बताया कि यहां पेयजल आपूर्ति के लिए लगी मोटर पिछले बीस दिन से खराब है। इस बारे में कई बार सहायक अभियंता बज्जू को अवगत करवाया जा चुका है लेकिन इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि जल्द ही पेयजल आपूर्ति शुरू नही हुई तो ग्रामीण बज्जू जलदाय विभाग पर धरना प्रदर्शन करेंगे।

सरकारी नलकूप 45 दिन से बंद, गहराया पेयजल संकट

पिथरासर. गांव के बस्सी बास में सरकारी नलकूप 45 दिन से बंद है। इससे ग्रामीण और पशुधन प्यास बुझाने के लिए भटकने को मजबूर है। जलदाय विभाग इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है। इससे ग्रामीणों में विभाग के अधिकारियों प्रति रोष व्याप्त है। ग्रामीण नरपतसिंह भाटी ने बताया कि पेयजल आपूर्ति बंद होने से पशुधन पानी के अभाव में दम तोड़ रहा है।

15 दिनों से जलापूर्ति बाधित

श्रीडूंगरगढ़. यहां कालू बास के वार्ड नम्बर एक में पिछले 15 दिन से पानी की सप्लाई बंद होने से वार्ड वासियों को पानी की समस्या से जूझना पड़ रहा है। इस वार्ड के लोगों ने बताया कि जलापूर्ति की पाइप लाइनें कई जगह से क्षतिग्रस्त व अवरुद्ध है। इस संबंध में वार्ड के लोग जलदाय विभाग के कनिष्ठ अभियन्ता को लिखित व मौखिक रूप से शिकायतें दर्ज करवा चुके हैं लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है। इसमें ना तो जलदाय विभाग व्यवस्था बहाली में ध्यान दे रहा है और ना ही ठेकेदार लीकेज निकाल रहा है।

Updated On:
11 Sep 2019, 07:10:19 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।