ललितपुर, मुरैना और धौलपुर में है अनावश्यक हॉल्ट, बीना में हो सकता है शताब्दी का ठहराव

By: KRISHNAKANT SHUKLA

Updated On:
19 Sep 2019, 10:51:54 AM IST

  • सांसदों की बैठक में फिर उठा था प्रस्ताव, सभी ने किया था समर्थन

भोपाल. रेलयात्री सुविधाओं को लेकर 16 सितम्बर को भोपाल रेल मंडल परिक्षेत्र से संबंधित सांसदों की बैठक में सागर सांसद राज बहादुर सिंह ने नई दिल्ली-हबीगंज-नई दिल्ली के बीच चलने वाली शताब्दी एक्सप्रेस का बीना में हॉल्ट देने की मांग उठाई थी। बैठक में सभी सात लोकसभा सांसद व एक राज्यसभा सांसद ने मांग का समर्थन किया था।

 

मांग को प.-मध्य रेलवे के जीएम सहित भोपाल रेल मंडल डीआरएम व अन्य अधिकारियों ने सही माना था। उम्मीद है कि मंडल की ओर से यह प्रस्ताव रेलवे बोर्ड को भेजा जाएगा। जल्द ही शताब्दी का बीना स्टेशन पर भी एक मिनट का हॉल्ट हो सकता है। हबीबगंज से नई दिल्ली तक शताब्दी एक्सप्रेस (12001/12002) के 8 स्टॉपेज हैं।

 

रेलवे अधिकारियों के मुताबिक ललितपुर, मुरैना और धौलपुर में शताब्दी का हॉल्ट अनावश्यक है, यह हॉल्ट महज उस क्षेत्र के सांसदों की वजह से किया गया है। बैठक में सांसदों ने कहा था कि ललितपुर स्टेशन से चढऩे-उतरने वाले यात्रियों की तादाद नाममात्र की है। शताब्दी एक्सप्रेस 14 नवम्बर 1988 में भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की जन्म शताब्दी के उपलक्ष्य में शुरू की गई थी।

यह तत्कालीन रेल मंत्री माधवराव सिंधिया की सोच का नतीजा थीं, पहली शताब्दी एक्सप्रेस को नई दिल्ली से झांसी के बीच शुरू किया गया था, जिसे बाद में बढ़ाकर भोपाल और फिर हबीबगंज तक कर दिया गया था।

सोमवार को हुई सांसदों की बैठक में यह प्रस्ताव आया है कि शताब्दी एक्सप्रेस का बीना में हॉल्ट दिया जाए और ललिलपुर स्टेशन से हॉल्ट हटाया जाए। मंडल की टेक्निकल टीम ने भी नए हॉल्ट को सही माना है। प्रस्ताव पर आखिरी निर्णय रेलवे बोर्ड ही लेगा। - उदय बोरवणकर, डीआरएम, भोपाल रेल मंडल

Updated On:
19 Sep 2019, 10:51:54 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।