मंत्री ने कहा- 12 महीने में बनाओ 12 किमी सड़क, कंपनी 3 माह में एक किमी भी नहीं बना पाई

By: Ram kailash napit

Updated On:
14 Feb 2019, 03:03:03 AM IST

  • -गुजरात की प्राइवेट कंपनी ज्योति इंफ्रा की मनमानी, पीडब्ल्यूडी इंजीनियर ने शिकायत की तो हुआ तबादला

भोपाल. कलियासोत से कटारा हिल्स तक बनने वाली डबल लेन रोड को लेकर पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा से लेकर प्रोजेक्ट इंजीनियर तक के निर्देशों की नाफरमानी जारी है। गुजरात की प्राइवेट कंस्ट्रक्शन कंपनी ज्योति इंफ्रा की लेटलटीफी और मनमानी इसकी प्रमुख वजह है। विभागीय मंत्री ने पिछले दिनों कंपनी को 12 माह की समय सीमा देकर 12 किमी लंबे इस प्रोजेक्ट को पूरा करने कहा था। जमीनी हकीकत यह है कि कंपनी तीन माह में एक किमी सड़क का काम भी पूरा नहीं कर सकी है। ज्योति इंफ्रा का आरोप है कि पीडब्ल्यूडी विभाग अतिक्रमण हटाने में सहायता नहीं दे रहा है, वहीं पीडब्ल्यूडी के एसडीओ विजय सिंह पटेल काम समय पर पूरा करने का दावा कर रहे हैं। फिलहाल बर्रई बायपास से कटारा हिल्स नहर किनारे पिछले तीन माह से कंस्ट्रक्शन का काम जमीन समतलीकरण तक सीमित है। गुजरात की कंपनी के प्रोजेक्ट इंजीनियरों की मनमानी की शिकायत पीडब्ल्यूडी के एसडीओ अमलराज जैन ने आला अधिकारियों से की थी, जिसके बाद जैन को प्रोजेक्ट से हटाकर तबादला कर दिया गया। पीडब्ल्यूडी ने प्रोजेक्ट पूरा करवाने की जिम्मेदारी अब एसडीओ विजय सिंह पटेल को सौंपी है, लेकिन अतिक्रमणों को लेकर मैदानी कार्रवाई अभी भी शुरू नहीं हो सकी है।

ये है प्रोजेक्ट का स्टेटस
बर्रई से कलियासोत तक बन रही डबललेन रोड के लिए सिंचाई विभाग ने नहर किनारे जमीनें मुहैया करवा दी हैं। कटारा हिल्स बस्ती, बावडिय़ा बस्ती के अलावा चूनाभट्टी के पास बनी झुग्गी झोपड़ी और करीब 90 स्थानों से बिजली पोल हटाए जाने हैं। अतिक्रमण हटाने अभी तक योजना नहीं बनी है। केवल बर्रई से कटारा हिल्स तक एक किमी लंबे पेच में पिछले तीन माह से जमीन समतल करने का काम चल रहा है।

 

इन इलाकों को मिलेगी राहत
प्रोजेक्ट की मौजूदा गति से रोड के एक की बजाए दो साल में बन पाने का अनुमान है। इसके अलावा लागत में भी इजाफा हो सकता है। डबललेन रोड को बावडिय़ा आरओबी से कनेक्टिविटी दी जाएगी। इससे शाहपुरा, त्रिलंगा, गुलमोहर, कोलार से नागरिक सीधे होशंगाबाद रोड, बागसेवनिया और कटारा हिल्स तक पहुंच सकेंगे।

 

निर्माण कार्य में वक्त लगता है। मैं हर तीसरे दिन मौके पर जाकर काम की प्रगति देख रहा हूं। एक साल में प्रोजेक्ट पूरा करने का प्रयास है। अतिक्रमण हटाने कार्रवाई जल्द शुरू होगी।
विजय सिंह पटेल, एसडीओ, पीडब्ल्यूडी
हमने कई बार पीडब्ल्यूडी विभाग को पत्र लिखकर बिजली पोल और अतिक्रमण हटवाने की अपील की है। विभाग ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की जिसकी वजह से काम धीमी गति से चल रहा है।

संजय पटेल, जीएम, ज्योति इंफ्रा गुजरात

Updated On:
14 Feb 2019, 03:03:03 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।