साथियों के साथ पिकनिक पर गया टीटी बनास में बहा, एक घंटे बाद मिला शव

By: Tej Narayan Sharma

Updated On:
11 Sep 2019, 02:26:07 AM IST

  • शहर से 15 किमी दूर मंगरोप के निकट बनास नदी में मंगलवार को दो हादसे हुए। रेलवे में टिकट परीक्षक (टीटीई) तीन सहकर्मियों के साथ पिकनिक मनाने मंगरोप पहुंचा, जहां पैर फिसलने से बनास में बह गया।

मंगरोप।

शहर से 15 किमी दूर मंगरोप के निकट बनास नदी में मंगलवार को दो हादसे हुए। रेलवे में टिकट परीक्षक (टीटीई) तीन सहकर्मियों के साथ पिकनिक मनाने मंगरोप पहुंचा, जहां पैर फिसलने से बनास में बह गया। करीब एक घंटे मशक्कत के बाद रेस्क्यू टीम ने रेलकर्मी का शव निकाला। इससे रेलकर्मियों में शोक की लहर फैल गई। वहीं एक अन्य हादसे में बनास में किशोर बह गया, जिसका देर रात तक पता नहीं लगा।

थानाप्रभारी महावीर प्रसाद मीणा ने बताया कि मूलत: दौसा हाल भीलवाड़ा रेलवे कॉलोनी निवासी अमित कुमार माठा (२८) व रेलवे के तीन अन्य कर्मचारी सांवलिया मंदिर के पास बनास नदी क्षेत्र में घुमने आए। अमित किनारे खड़े होकर नदी देख रहे थे कि पैर फिसल गया व बह गए। साथियों ने बचाने का प्रयास भी किया। शोर सुनकर आसपास से लोग आए, लेकिन बहाव तेज होने से कोई पानी में उतरने की हिम्मत नहीं जुटा पाया। सूचना पर मंगरोप पुलिस, हमीरगढ़ उपखंड अधिकारी अतहर आमिर खान व स्टेशन अधीक्षक राधेश्याम शर्मा पहुंचे। भीलवाड़ा से रेस्क्यू टीम आई, जिसने करीब एक घंटे बाद अमित को निकाल लिया लेकिन तब तक दम तोड़ चुका था।
रात को ड्यूटी की, दोपहर तक सोया, साथी ले गए

रेलवे सूत्रों के अनुसार अमित की रात 10 से सुबह 6 बजे तक ड्यूटी थी। मंगलवार सुबह ड्यूटी खत्म कर घर पर दोपहर तक सोए। इस बीच एक बुकिंग क्लर्क व दो टिकटचेकर उसके घर पहुंचे और सभी पिकनिक मनाने मंगरोप आ गए।
पत्नी को देर रात तक नहीं बताया, पिता को दी जानकारी

अमित का शव एमजीएच की मोर्चरी में रखवाया। रेलवे कॉलोनी में रह रही पत्नी को हादसे के बारे में नहीं बताया। उसे कहा कि हादसे में अमित घायल हो गया, उसका इलाज करा रहे हैं। पत्नी उसके पास ले जाने की जिद करती रही। अमित के पिता को हादसे की जानकारी दी गई।
बहा किशोर, नहीं लगा पता

अंदाला महादेव क्षेत्र में बनास नदी में नहाने गया मंगरोप का चिराग लुहार (१६) भी बह गया। छह घंटे तक चिराग की रेस्क्यू टीम ने तलाश की, लेकिन देर रात तक पता नहीं लगा। चिराग राजेन्द्र स्कूल में ११वीं का छात्र था। साथियों के साथ बनास नदी देखने आया था।
तेज बहाव बना बाधा

चित्तौडग़ढ़ जिले के मातृकुंडिया बांध का गेट खोलने से उसका पानी बनास में आया। इससे नदी का बहाव बढ़ गया है। हमीरगढ़ और मंगरोप से गुजर रही बनास में बहाव को देखने रोज सैकड़ों लोग पहुंच रहे हैं।
बीस घंटे बाद भी नहीं लगा तोसिफ का पता

बीगोद. जोजवा के निकट उफान पर आई बेड़च नदी देखने गए मांडलगढ़ निवासी तोसिफ मोहम्मद का मंगलवार को दूसरे दिन भी पता नहीं लगा। रेस्क्यू टीम ने कई किलोमीटर तक तलाश की। वह साथियों के साथ सोमवार को साथियों के साथ बेड़च नदी देखने गया था। पुलिया पर करीब डेढ़ फीट पानी में बहकर आई मछली को पकडऩे के लिए तोसिफ लपका। असंतुलित होने से वह बह गया था।

Updated On:
11 Sep 2019, 02:26:07 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।