केन्द्रीय बजट से होगा विकास

By: Suresh Jain

Updated On:
11 Jul 2019, 12:14:03 PM IST

  • बजट पर सेमिनार

भीलवाड़ा।
केन्द्रीय बजट से देश में नया विकास होगा। सरकार ने विकास की दर को देखते हुए विदेशी ऋण को बढ़ाने का लक्ष्य है। बाहरी ऋण बढ़ते हैं, तो भारत में ब्याज की दरों में कटौती होगी। आयकर में कर निर्धारण पूर्णरूप से ऑनलाइन होंगे। इससे भ्रष्टाचार में कमी आएगी। जिनकी सालाना आय 2 करोड़ से अधिक है, उन पर अधिभार लगाया गया है। हालांकि ऐसे करदाता दस हजार हैं। सर्विस टैक्स एवं उत्पाद शुल्क में लंबित मामलों के लिए सबका विश्वास विवाद निवारण स्कीम जारी की गई है। इससे देश में करीब ३.७५ लाख करोड़ रुपए की वसूली होगी।
यह विचार जयपुर से आए मुख्य वक्ता संजय झंवर व राहुल लखवानी ने सीए शाखा की ओर से आयोजित केन्द्रीय बजट पर सेमिनार में व्यक्त किए। सीए शाखा अध्यक्ष आलोक पलोड़ ने बताया कि जीएसटी में अब केंद्र की ओर से राज्य कर का रिफंड भी दिया जाएगा। सरकार ने स्पष्टीकरण जारी कर बताया है कि जीएसटी में देरी से भुगतान करने पर कुल बिक्री पर संग्रहीत किए गए कर के बजाय शुद्ध देय कर पर ही ब्याज लगेगा। शाखा सचिव दिनेश सुथार ने बताया कि अतिथियों ने पौधारोपण किया। शिव झंवर, अतुल सोमानी, केसी अजमेरा, केसी बाहेती, नवीन कोगटा, रामेश्वर बिरला, नरेश जागेटिया, सतीश सोमानी, विवेक लुहाडिय़ा, शुभम माहेश्वरी सहित 50 से अधिक सदस्य मौजूद थे।

Updated On:
11 Jul 2019, 12:14:03 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।