राजस्थान का ये ज्योतिषी करता था समुद्री जीवों के कंकाल का व्यापार, दिल्ली विजिलेंस टीम के छापे में मिली कई दुर्लभ चीजें

By: Nidhi Mishra

Published On:
Sep, 12 2018 04:37 PM IST

  • https://www.patrika.com/rajasthan-news/

भीलवाड़ा। वाइल्ड लाइफ दिल्ली की विजिलेंस टीम ने स्थानीय वन विभाग की टीम व पुलिस के सहयोग से बुधवार को ज्योतिषी पंडित सीताराम त्रिपाठी के घर छापा मारकर दुलर्भ प्रजाति के शंख व अन्य वाइल्ड लाइफ वस्तुएं अवैध रूप से रखी हुई बरामद की।
टीम का मानना है कि यहां दुर्लभ प्रजाति के शंख व अन्य वाइल्ड लाइफ को अवैध तरीके से रखा गया है। पंडित सीताराम त्रिपाठी की भीलवाड़ा में भविष्यवक्ता के रूप में ख्याति अर्जित है। पंडित सीताराम त्रिपाठी टीमों पर दबाव बना रहा है।


इस मामले में पंडित सीताराम का कहना है कि उसने विगत 40 सालों से शंख विज्ञान पर रिसर्च की है। लोगों को उसने भारतीय संस्कृति में शंख की मान्यता पर जागरूक भी किया है। वहीं मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को भी आजाद चौक में एक शंख भेंट किया है। ना मालूम क्यों पिछले दो दिनों से वन विभाग की टीम मेरे घर पर छानबीन कर रही है। वे मेरे घर में कछुआ और शेर की खाल की तलाश में छानबीन कर रहे हैं। मैंने अपना घर उन्हें पूरा सर्च करवा दिया है। जो शंख मेरे घर में मिले हैं, उनमें से चार शंख भारत सरकार ने बैन रखे हैं, तो उन पर मैंने लिख रखा है कि वे बिक्री के लिए नहीं है। इनसे मैं जनजागृति पैदा करता हूं। मुझ पर द्वेषतापूर्ण कार्रवाई की गई है। मैंने तो कानून और पुलिस का सहयोग करते हुए अपने घर की तलाशी करवाई है।


समुद्री जीवों के कंकाल के व्यापार का आरोप
उधर, भीलवाड़ा के सहायक वन संरक्षक बलराम शर्मा का कहना है कि हमें सूचना मिली कि भीलवाड़ा में एक एस्ट्रोलॉजर समुद्री जीवों के कंकाल का व्यापार करते हैं। ये वाइल्ड लाइफ प्रोटेक्शन एकट 1972 के तहत अवैध है। हमें यहां तलाशी में कई समुद्री जीवों के कंकाल मिले हैं, जिन्हें भविष्यवक्ता इस्तेमाल करते आ रहे थे। फिलहाल तलाशी जारी है। इसके बाद केस दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

Published On:
Sep, 12 2018 04:37 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।