रूपवास डकैती: पुलिस के हाथ खाली, बावरिया गिरोह पर शक

By: Rohit Sharma

Published On:
Jun, 12 2019 12:47 PM IST

  • रूपवास कस्बे की श्याम कॉलोनी में व्यापारी अनिल गर्ग के घर पर रविवार रात हुई डकैती की वारदात का मंगलवार को भी खास सुराग पुलिस के हाथ नहीं लगा है।

भरतपुर. रूपवास कस्बे की श्याम कॉलोनी में व्यापारी अनिल गर्ग के घर पर रविवार रात हुई डकैती की वारदात का मंगलवार को भी खास सुराग पुलिस के हाथ नहीं लगा है। हालांकि, पुलिस ने मामले में चार-पांच संदिग्धों को जिले के मेवात समेत अन्य इलाकों से हिरासत में लिया है जिनसे पूछताछ जारी है। पुलिस की तीन टीम अलग-अलग इलाकों में कुछ चिह्रित संदिग्ध व्यक्ति और एक गिरोह की तलाश में जुटी हुई हैं। ताजा वारदात भी करीब दो माह पहले रूपवास में सिंघावली मार्ग स्थित एक मकान में हुई लूट की वारदात से मिली-जुली लगती है। पुलिस उस वारदात में शक के दायरे में आए लोगों से भी पूछताछ कर रही है।


उधर, वारदात को लेकर रूपवास पहुंचे बयाना व्यापार महासंघ के पदाधिकारियों ने स्थानीय व्यापारियों के साथ बैठक की और बुधवार तक डकैती का खुलासा नहीं होने पर गुरुवार को विरोध में बाजार बंद करने की चेतावनी दी है। बयाना व्यापार महासंघ के जिला सेक्टर प्रभारी पवन गोयल, अध्यक्ष विनोद सिंघल, कोषाध्यक्ष चन्द्रभान महामंत्री ओमप्रकाश कस्बे के हनुमान चौक स्थित हनुमान मंदिर पर पहुंचे। बैठक में पदाधिकारियों ने व्यापारी के पुत्र सचिन गर्ग से घटना की जानकारी ली और आगे की रणनीति को लेकर स्थानीय व्यापारियों से चर्चा की। जिस पर सर्व सम्मति से निर्णय लिया कि बुधवार तक पुलिस डकैती का खुलासा नहीं करती है तो गुरुवार को सभी व्यापारी अपने प्रतिष्ठान बंद रख अनिश्चित कालीन धरना देंगे। बैठक के बाद व्यापारियों ने थाना प्रभारी रामनाथ गुर्जर से मुलाकात की, जिस पर थाना प्रभारी ने जल्द खुलासे का भरोसा दिया। वहीं, व्यापारी अनिल गर्ग के घर से पुलिस ने सुबह चले हुए कारतूस के दो खोखा भी जब्त किए हैं। हालांकि, पुलिस इससे इनकार कर रही है। वहीं, पड़ोसियों ने बदमाशों की ओर से तीन बार फायर करना बताया है। सीओ चेतराम सेवदा ने बताया कि डकैती वारदात में चार-पांच संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। बावरिया गिरोह भी संदेह के घेरे में है। पुलिस टीम आरोपियों की तलाश कर रही है।

Published On:
Jun, 12 2019 12:47 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।