महिला की मौत से भड़के लोग, शव रखकर किया प्रदर्शन

By: Rohit Sharma

Updated On:
11 Sep 2019, 11:18:44 AM IST

  • बयाना कस्बे के भीतरवाड़ी कोलीपाड़ा निवासी एक महिला की मंगलवार को उपचार के दौरान जयपुर अस्पताल मे मौत हो गई।

भरतपुर. बयाना कस्बे के भीतरवाड़ी कोलीपाड़ा निवासी एक महिला की मंगलवार को उपचार के दौरान जयपुर अस्पताल मे मौत हो गई। शव के आने पर आक्रोषित परिजनों व कोली समाज के लोगों ने पंचायत समिति स्थित निजी हॉस्पीटल के सामने शव को रखकर प्रदर्शन कर अस्पताल संचालक के खिलाफ कार्रवाई करने और मुआवजा दिलाने की मांग की। इस दौरान लोगों ने सड़क जाम लगाने का भी प्रयास किया, लेकिन पुलिस की समझाइश पर मान गए। मृतका के पति ने मामला दर्ज कराया है। मृतका के पुत्र दीपक कोली ने बताया कि रविवार को उनकी मां भगवानदेई (55) पत्नी बाबुलाल कोली को पेट दर्द की शिकायत पर कृष्णा हॉस्पीटल में भर्ती कराया था। वहां उनको पथरी होना बताया और ऑपरेशन करने को कहा। इस पर ऑपरेशन कराया।

सोमवार शाम को अचानक तबियत बिगडऩे पर भगवानदेई को रैफर करते भरतपुर जिंदल हॉस्पीटल ले जाने की सलाह दी। इस पर उसे जिंदल हॉस्पीटल ले गए। वहां उनकी गम्भीर हालत देख बिना भर्ती किए जयपुर ले जाने की सलाह दी। सोमवार रात करीब 12 बजे जयुपर सवाई मानसिंह अस्पताल में भर्ती करा दिया। उपचार के दौरान मंगलवार सुबह करीव 10 बजे उसकी मौत हो गई। मौत की सूचना मिलने के बाद कोली समाज के लोगों में आक्रोष छा गया और मृतका के शव को कृष्णा हॉस्पीटल कें सामने रख सड़क जाम लगाने का प्रयास करने लगे। मौके पर पहुंची पुलिस ने समझाइश कर शव को सड़क से हटवाया तो लोगों ने शव को हॉस्पीटल के मुख्य गेट पर रखकर चिकित्सक के खिलाफ प्रदर्शन किया। मौके पर पहुंचे कोतवाली प्रभारी दीपक ओझा ने लोगों से समझाइश कर शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए परिजनों को तैयार किया तथा हॉस्पीटल संचालक चिकित्सक के विरूद्ध मामला दर्ज करने का आश्वासन दिया। अस्पताल मे सर्जन चिकित्सक के नहीं होने पर गठित मेडिकल बोर्ड में नदबई से सर्जन को बुलाया गया। सूचना पाकर अस्पताल पहुंची सासंद रजीता कोली को लोगों ने बताया कि काफी समय निकलने के बाद भी पोस्टमार्टम कार्रवाई नहीं हो सकी है। सांसद ने चिकित्सा प्रभारी डॉ. भरत मीणा से वार्ता की तो बताया गया कि पोस्टमार्टम टीम मे सर्जन व्यवस्था के कारण देरी हो गई है। इस दौरान कोली समाज के प्रमोद कोली, विजेन्द्र कोली, पालिकाध्यक्ष ओमप्रकाश कोली, विष्णु कोली आदि मौजूद थे। उधर, चिकित्सा प्रभारी डॉ.भरत मीणा ने बताया कि अस्पताल में सर्जन चिकित्सक का पद खाली होने के कारण चिकित्सक नदबई से बुलाए। पोस्टमार्टम कर शाम सात बजे तक शव को परिजनों के सुपुर्द किया गया।

Updated On:
11 Sep 2019, 11:18:44 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।