देश की 27 नदियों के जल से नहाए बप्पा...

By: Pramod Kumar Verma

Updated On: 12 Sep 2019, 08:30:10 PM IST

  • भरतपुर. जिले में गणेश महोत्सव के समापन पर चहुंओर गूंजी गणपति बप्पा मोर्या की जय-जयकार ने वातावरण को भक्तिमयी कर दिया।

भरतपुर. जिले में गणेश महोत्सव के समापन पर चहुंओर गूंजी गणपति बप्पा मोर्या की जय-जयकार ने वातावरण को भक्तिमयी कर दिया। गुरुवार को विभिन्न ट्रस्ट व समितियों ने झांकियों के साथ बैंडबाजों की धुनों पर गणपति बप्पा मोर्या अगले बरस तू जल्दी आ..., के भजनों पर दाता गणेश की प्रतिमा का विसर्जन शोभायात्रा निकालकर किया। आसमान में उड़ते गुलाल और पुष्पवर्षा के साथ श्रद्धालुओं ने सिद्धि विनायक का विसर्जन नाचते गाते किया। कहीं कुंड तो कहीं कृत्रिम कुंड में मंत्रोच्चार से अभिषेक कर प्रतिमा का विसर्जन किया।

बजरंग सेवक ट्रस्ट ने गणेश प्रतिमा के विसर्जन की शोभायात्रा निकाली। शोभायात्रा मुख्य बाजार होते हुए काली की बगीची के पास स्थित फ्रेंड आशियाना पहुंची, जहां आचार्य धरणीधर के सानिध्य में पांच पंडितों ने रामेश्वरम से मंगाए 27 नदियों के जल, नाथद्वारा से लाए 101 लीटर गुलाब जल, हरिद्वार के गंगाजल, यमुनाजल से मंत्रोच्चार के साथ पूजन कर प्रतिमा का विसर्जन किया।

वहीं गणनायक सेवक ट्रस्ट ने नवगृह कुंड में विसर्जन किया। इससे पहले सुबह कलश यात्रा निकाली, जिसमें दो सौ महिलाएं सिर पर कलश रखकर निकली। कलश यात्रा मुख्य बाजार से निकाली कर मथुरा गेट पर सम्पन्न हुई। इसमें श्रद्धालुओं को प्रतीक चिह्न के रूप में गणेश की मूर्ति दी गई।

श्री रामसेवक ट्रस्ट समिति ने कुम्हेर गेट चौराहे से विसर्जन यात्रा निकाली। फूलों से सजी गणपति बप्पा की बग्गी को चार सफेद घोड़ों से खींचा गया। यात्रा का जगह-जगह पर पुष्प वर्षा कर स्वागत किया। रात दस बजे पंडितों के मंत्रोचार के साथ प्रतिमा विसर्जित की।

Updated On:
12 Sep 2019, 08:30:09 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।