नया थाना भवन बनाने के लिए बिना अनुमति काट दिए पेड़

By: Rakesh Kumar Malviya

Published On:
Jul, 19 2019 08:00 AM IST

  • नगरपालिका सीएमओ ने कहा पेड़ काटने की अनुमति नहीं ली, थाना प्रभारी ने कहा अनुमति ली गई कि नहीं मुझे पता नहीं

मुलताई. शासन द्वारा वृक्ष लगाओ वृक्ष बचाओ के स्लोगन सहित पौधा रोपण करने के तमाम दावे तब खोखले नजर आते हैं जब एक शासकीय विभाग में खुलेआम भवन निर्माण के नाम पर हरे भरे पेड़ काट दिए जाते हैं। वर्षों पुराने इन छायादार वृक्षों की बलि मुलताई में थाना भवन की नींव खुदने के पूर्व ही दे दी गई। बुधवार को थाना परिसर में पुलिस हाऊसिंग बोर्ड द्वारा नये भवन के निर्माण के लिए थाना परिसर में नीम के लगभग 30 वर्ष पुराने पेड़ सहित अन्य दो पेड़ों को काट दिया गया। इधर पूरे थाने का स्टाफ हरे भरे पेड़ों को कटते देखता हुआ तमाशबीन बना रहा यहां तक कि अधिकारियों द्वारा भी ठेकेदार को पेड़ों को काटने से मना नहीं किया। पूरे मामले में जब थाना प्रभारी नीतेश पटेल से चर्चा की तो उन्होंने बताया कि पेड़ कब काटे गए इसकी उन्हें जानकारी नहीं है। उन्होंने बताया कि गुरुवार से थाने की दोमंजिला इमारत बनाने का कार्य प्रारंभ किया है जिसके लिए काम चालू हुआ है।

पेड़ काटने से अनुमति लेना आवश्यक है
बताया जा रहा है कि नियमानुसार हरे-भरे पेड़ काटने के लिए पहले संबंधित विभाग की स्वीकृति लेना आवश्यक है जिसकी पूरी प्रक्रिया होती है लेकिन थाना परिसर में जेसीबी से तीन हरे पेड़ काट दिए जिसकी ना तो राजस्व विभाग से अनुमति ली और ना ही नपा। बड़े थाना परिसर में बचाए जा सकते थे वर्षों पुराने हरे भरे पेड़ मुलताई थाना परिसर एक बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है जहां भवन निर्माण के लिए यह आवश्यक नहीं था कि हरे-भरे पेड़ काटे जाएं। पेड़ों को बचाया जा सकता था लेकिन जानबूझकर नींव खोदने के नाम पर सबसे पहले हरे-भरे पेड़ों को काट दिया। उल्लेखनीय है कि थाना परिसर नगर के मध्य स्थिति है जहां चारों ओर ही नीम सहित विभिन्न प्रजाति के पेड़ लगे हैं।

सीएमओ बोले हमने नहीं दी पेड़ काटने की अनुमति
पेड़ों को काटने की अनुमति के संबंध में जब सीएमओ राहुल शर्मा से चर्चा की तो उन्होंने बताया कि थाना क्षेत्र में किसी भी हरे-भरे पेड़ काटने की अनुमति नगर पालिका द्वारा नही दी है। इधर जब इस गंभीर मामले पर थाना प्रभारी नीतेश पटेल से चर्चा की तो उन्हांने कहा कि पुलिस हाऊसिंग बोर्ड द्वारा अनुमति ली गई होगी लेकिन बताया जा रहा है कि हरे भरे पेड़ों को काटने की अनुमति जब राजस्व विभाग सहित नगर पालिका द्वारा नहीं दी गई तो किसकी अनुमति से वर्षों पुराने हरे-भरे पेड़ एक ही दिन में काट दिए गए।

Published On:
Jul, 19 2019 08:00 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।