नाबालिग के अपहरण करने के लिए आरोपी बुदनी से कर रहा था पीछा

By: Ghanshyam Rathore

Updated On:
25 Aug 2019, 01:02:04 AM IST

  • जीआरपी द्वारा पैंचवली पैसेंजर ट्रेन से ७ वर्षीय बालिका का १४ अगस्त को अपहरण करने वाले को गिरफ्तार कर लिया।


आमला। जीआरपी द्वारा पैंचवली पैसेंजर ट्रेन से ७ वर्षीय बालिका का १४ अगस्त को अपहरण करने वाले को गिरफ्तार कर लिया। जीआरपी द्वारा पिछले १० दिनों से आरोपी की तलाश की जा रही थी। पकड़ा गया आरोपी छिंदवाड़ा जिले के दमुआ मोमीनपुरा निवासी ३८ वर्षीय राजा उर्फ किशोर पिता तारण प्रजापति को गिरफ्तार किया है। आरोपी पर बैतूल और छिंदवाड़ा जिले में विभिन्न थानों मे करीब डेढ़ दर्जन से अधिक मामले दर्ज है, जिसमें तीन पाक्सों के एक्ट मामलें में फरार चलने के कारण पुलिस ने एक लाख रूपए का इनाम घोषित किया गया था। छिंदवाड़ा जिले के उमरेठ कलमुंडी निवासी शनलाल पिता चेतलाल ने आमला जीआरपी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराते हुए बताया था कि १४ अगस्त की रात में पैंचवली पैसेंजर ट्रेन के जनरल कोच में बुदनी से जुन्नारदेव की यात्रा अपने परिवार के साथ कर रहा था। यात्रा के दौरान आरोपी ने उसकी पुत्री को स्टेशन आमला पर अपहरण कर लिया है । अपहृता नाबालिग होने से धारा 363 भादवि इजाफा 366 , 342 भादवि , 7 / 8 पाक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था। बताया गया कि राजा पर बैतूल और छिंदवाड़ा जिले में अलग अलग अपराधों में ईनाम घोषित कर रखा है । राजा वर्ष 2018 से लगातार फरार है । छिंदवाड़ा में 02 पास्को एक्ट , बैतूल में 01 पास्को एक्ट और थाना जीआरपी आमला में 01 पास्को एक्ट का मामला दर्ज है ।
आरोपी बुदनी में करता था काम
आमला थाना प्रभारी हेमराज कुमरे ने बताया कि शनलाल आरोपी का नाम नहीं जानता था, सिर्फ चेहरा पहचानता था । आरोपी राजा बुदनी में 3 माह पूर्व मजदूरी का काम करता था । शनलाल भी अपने परिवार के साथ बुदनी में मजदूरी करता था । राजा की नजर शनलाल की बालिका का अपहरण करने की योजना पहले से ही थी । १४ अगस्त की रात को दोनों ही पैचवली पैसेंजर में एक ही बोगी में सफर कर रहे थे। शनलाल आमला स्टेशन पर पानी लेने के लिए उतरा था, इसी दौरान राजा ने उनकी बेटी का अपहरण कर लिया था।
स्कैच के आधार पर पहुंची जीआरपी
जीआरपी द्वारा अज्ञात आरोपी का स्कैच तैयार कराया गया। स्कैच की बैतूल और छिंदवाड़ा में पूर्व बदमाशों के रिकॉर्ड से पहचान की गयी, जिसके आधार पर आरोपी का नाम राजा उर्फ किशोर प्रजापति के रूप में हुई। जिसकी तलाश छिंदवाड़ा और बैतूल की पुलिस कर रही थी है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक रेल भोपाल अरुणा मोहनराव द्वारा घटना को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक रेल भोपाल मनीष अग्रवाल को आरोपी को पकडऩे की जिम्मेदारी सौंपी। आरोपी को पकडऩे में थाना प्रभारी जीआरपी आमला के उपनिरीक्षक हेमराज कुमरे , प्रधान आरक्षक बेनी प्रसाद ,रेल विशेष शाखा आरक्षक रवीश यादव की विशेष भूमिका रही।

Updated On:
25 Aug 2019, 01:02:04 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।