सतपुड़ा प्लांट से एक पैसे प्रति यूनिट महंगा हुआ बिजली का उत्पादन

By: Pradeep Sahu

Published On:
Aug, 14 2019 02:01 AM IST

  • मप्र पॉवर मैनेजमेंट कंपनी की जुलाई माह की एमओडी रिपोर्ट से हुआ खुलासा

सारनी. मप्र पॉवर मैनेजमेंट कंपनी ने जुलाई माह की एमओडी (मैरिड आर्डर डिस्पैच) जारी की है। जिसमें सतपुड़ा पॉवर प्लांट सारनी से एक, बिरसिंहपुर पॉवर प्लांट से पांच और अमरकंटक पॉवर प्लांट से दस पैसे प्रति यूनिट बिजली उत्पादन महंगा हुआ है। इधर सिंगाजी पॉवर प्लांट की 600-600 मेगावाट की यूनिट से जहां 8 पैसे प्रति यूनिट बिजली उत्पादन महंगा हुआ है। वहीं 660-660 मेगावाट की इकाइयों से 8 पैसे प्रति यूनिट बिजली उत्पादन सस्ता हुआ है। कंपनी के जानकार बताते हैं कि कम लागत पर अधिक बिजली उत्पादन में मुख्य भूमिका कोयले की दरों और विभिन्न खर्चों पर निर्भर रहता है। बारिश के समय में यार्डों में स्टॉक रखा कोयला भीगने और बारिश के पानी के साथ बहने से भी उष्मीय क्षमता में कमी आती है। इसके अलावा अधिक दूरी से कोयला आपूर्ति होने के चलते परिवहन भाड़ा बढऩे से उत्पादन लागत पर असर पड़ता है। खासबात यह है कि जुलाई माह की एमओडी में तीन बिजली घरों से उत्पादन महंगा हुआ है।
कितनी बढ़ी उत्पादन लागत - सतपुड़ा ताप विद्युत गृह सारनी की 200 व 219-210 मेगावाट क्षमता की इकाइयों की उत्पादन लागत पहले 2.73 पैसे थी जो एक पैसे बढ़कर 2.74 पैसे प्रति यूनिट हो गई है। वहीं 250-250 मेगावाट की इकाइयों की उत्पादन लागत में 3 पैसे प्रति यूनिट सुधार आया है। पहले 2.31 पैसे यूनिट की दर से उत्पादन होता था जो नई एमओडी में घटकर 2.28 पैसे प्रति यूनिट पर आ पहुंचा है। बिरसिंहपुर पॉवर प्लांट की 210-210 मेगावाट की उत्पादन लागत पहले 2.20 पैसे थी जो बढ़कर 2.25 पैसे प्रति यूनिट हो गई है। अमरकंटक प्लांट की उत्पादन लागत पहले 1.75 पैसे थी जो बढ़कर 1.85 हो गई। श्रीसिंगाजी पॉवर प्लांट की 600-600 मेगावाट की उत्पादन लागत पहले 2.70 पैसे थी जो अब बढ़कर 2.78 पैसे प्रति यूनिट हो गई। वहीं 660-660 मेगावाट की उत्पादन लागत में 8 पैसे प्रति यूनिट का सुधार आया है। पहले 2.60 पैसे प्रति यूनिट थी जो अब घटकर 2.52 हो गई है।
इनका कहना है...

पॉवर जनरेटिंग कंपनी ने एमओडी जारी की है। जिसमें सतपुड़ा की पुरानी इकाइयों से एक पैसे उत्पादन महंगा हुआ है। वहीं नई इकाइयों से उत्पादन में 3 पैसे प्रति यूनिट सुधार आया है। कोल स्टॉक 1 लाख 10 हजार मीट्रिक टन के आसपास है। बेकिंग डाउन नार्मल होने के बाद 10 व 11 इकाइयां पूरी क्षमता से उत्पादन कर रही है। 6,7,8 और 9 नंबर इकाई बंद है।
अमित बंसोड़, पीआरओ, सतपुड़ा पॉवर प्लांट, सारनी

Published On:
Aug, 14 2019 02:01 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।