नवजात की मौत पर गुस्साए ग्रामीण, जताया विरोध

By: Sunil Kumar Jain

Updated On:
24 Aug 2019, 09:20:27 PM IST

  •  

    अमृतकौर चिकित्सालय : परिजनों ने इलाज में लगाया लापरवाही का आरोप,

    प्रसूता की माता ने दी सिटी थाने में शिकायत, मामला दर्ज

 

ब्यावर. राजकीय अमृतकौर चिकित्सालय के मदर चाइल्ड विंग में प्रसव के दौरान नवजात की मौत को लेकर परिजन ने चिकित्सक व स्टाफ पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। सूचना मिलने पर सिटी थाना पुलिस पहुंची और परिजनों को समझाया। बाद में प्रसुता की मां की रिपोर्ट पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस के अनुसार प्रसुता किरण की मां काबरा निवासी मीना देवी ने रिपोर्ट देकर बताया कि उसकी पुत्री भोजपुरा निवासी किरण पत्नी पृथ्वीसिंह को प्रसव पीड़ा होने पर 23 अगस्त की रात आठ बजे राजकीय अमृतकौर चिकित्सालय लेकर आए। जहां मौजूद स्टाफ ने उस पर ध्यान नहीं दिया और जैसे तैसे रात गुजारी। सुबह डॉ. विद्या सक्सेना व डॉ. दीपाली मीणा भी आई। उनको भी बात बताई लेकिन कुछ नहीं हुआ। बाद में दोपहर को २ बजे स्टाफ बदल गया और उन्होंने हमारे से काफी मंगवाई। इसके बाद ३.३५ बजे दर्द होने पर स्टाफ को अवगत कराया लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया। इस बीच उसके बच्चा आधा निकल गया लेकिन स्टाफ बीतचीत में मशगूल रहा। लेबर रूम में कोई कार्मिक भी नहीं था। जब वह अपनी भुआ को बलाने गई और वापस आई तब तक बच्चा जन्म ले चुका था। उसे कोई हल चल नहीं थी। हमने देखा कि बच्चा मर चुका है। अगर कोई स्टाफ वहां होता तो बच्चा बच सकता था। अत: रात्रि आठ बजे से लेकर दोपहर 3.35 बजे तक ड्यूटी पर मौजूद स्टाफ के खिलाफ कार्रवाई की जाए ताकि भविष्य में किसी के साथ एेसा नहीं हो। पुलिस ने शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया है।

 

नर्सिंग स्टाफ ने लगाया मारपीट का आरोप

नर्सिंग स्टाफ मंजू गुप्ता ने बताया कि एक आदमी व दो औरतों ने उसके साथ मारपीट की। उसने बताया कि डिलेवरी होने वाली थी और उसको दवाई दी। बाद में दूसरे पेसेन्ट को देखने को लिए गई। बच्चा बाहर आने का पता चलने पर दूसरी सिस्टर ने जाकर सम्भाला। इलाज में लापरवाही जैसी कोई बात नहीं।

 

इनका कहना है...अस्पताल में नवजात की मौत को लेकर विरोध की जानकारी मिली। पुलिस पहुंची। प्रसूता की मां की ओर से दी गई रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर लिया है। जांच जारी है।रमेन्द्रसिंह, प्रभारी, सिटी थाना ब्यावर

Updated On:
24 Aug 2019, 09:20:27 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।