मुंहासों को फोडऩे से बचिए वरना बन जाएंगे धब्बे

By: Shankar Sharma

Published On:
Jun, 19 2018 05:26 AM IST

  • चेहरे पर मौजूद तेल ग्रंथियां बहुत अधिक ऑयल छोड़ती हैं। इस कारण वातावरण में मौजूद धूल मिट्टी और दूषित तत्त्व चेहरे पर जम जाते हैं। ये कील-मुंहासों का कारण बनते हैं।

चेहरे पर मौजूद तेल ग्रंथियां बहुत अधिक ऑयल छोड़ती हैं। इस कारण वातावरण में मौजूद धूल मिट्टी और दूषित तत्त्व चेहरे पर जम जाते हैं। ये कील-मुंहासों का कारण बनते हैं। इसके मामले में युवाओं में अधिक देखने को मिलते हैं।

इसलिए बढ़ते मामले
स्किन का ऑयली होना और त्वचा के भीतर मौजूद तैलीय गं्रथियों के अधिक तेल छोडऩे से मामले बढ़ते हैं। ऐसी स्थिति में चेहरा साफ रखने की सलाह दी जाती है ताकि फेस पर जमा गंदगी तैलीय गं्रथियों के अंदर जाकर त्वचा को संक्रमित न कर सके।

ध्यान रखें
कील या मुंहासे शुरु आती अव स्था में चेहरे पर छोटे दाने की तरह दिखने लगते हैं। इन्हें बार-बार न छुएं, संक्र मण बढ़ सकता है। कुछ लोग इन्हें फोड़ देते हैं, इससे बचना चाहिए वरना चेहरे पर धब्बे ब न सकते हैं।

मुंहासे और पिंपल पर हाथ न लगाएं
मुंहासों और पिंपल को फैलने से रोकना है तो उस पर बार-बार हाथ लगाने से बचना चाहिए, क्योंकि मुंहासे में प्रॉपेनो बेक्टर एक्ने नाम का बैक्टीरिया होता है। पिंपल्स और मुंहा सों को बार-बार छूने के बाद जिस भी जगह हाथ लगाएंगे संक्र मण वहां होगा और परे शानी बढ़ती जाएगी। संक्र मण रोकने के लिए चेहरे को मॉइ श्चराइज करें, तनाव से दूर रहें और बिना डॉक्टरी सलाह के कोई भी क्रीम न लगाएं।


जंक फूड-तेल नुकसानदायक
जंक फूड और उसमें इस्तेमाल होने वाला तेल चेहरे के लिए नुकसान दायक होता है। जैसे ही हम कोई फास्ट फू ड लेते हैं उसमें मौजूद ते ल ग्रंथियों से होकर चेहरे की ग्लैंड्स में पहुंच जाते हैं। ऐसा होने पर चेहरे की मांस पेशियों पर भी बुरा असर पड़ता है। जंक फूड के सा थ तेल-घी और मसाले वाले खाद्य पदार्थों के प्रयोग से परहेज करना चाहिए जिससे त्वचा में निखार बना रहे। डॉ. मनीषा निझावन, त्वचा रोग विशे षज्ञ, जयपुर

Published On:
Jun, 19 2018 05:26 AM IST