नींव रखी, दीवारें उठाई, अब छत के लिए ताक रही किस्त की राह

By: Manish Arora

Updated On:
25 Aug 2019, 10:30:49 AM IST

  • पीएम आवास योजना में दूसरी किस्त के लिए परेशान हो रहे हितग्राही, आधे-अधुरे मकान बनाकर रह रहे किराये के मकानों में, जिम्मेदारों का कहना, आ गई राशि जल्द ही डालेंगे खाते में

बड़वानी. प्रधानमंत्री आवास योजना में अपने घर का सपना देखने वाले हितग्राही अपना घर बनने से पहले किरायेदार बनकर रह गए हैं। योजना के तहत हितग्राही बनने के बाद पहले तो प्रथम किस्त के लिए परेशान होते रहे, किस्त डली तो घर की नींव रखी, दीवारें उठाई, अब छत भरने के लिए दूसरी किस्त की राह तक रहे हैं। आधा-अधुरा मकान बनाकर खुद किराये के मकान में रहने को मजबूर है। कई हितग्राहियों की तो अब तक पहली किस्त भी नहीं डली है। नगर पालिका का कहना है कि तकनीकी त्रुटी से पहली किस्त नहीं डल पाई थी। दूसरी किस्त की राशि भी आ गई है, वो भी जल्द ही दे दी जाएगी।
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत शहर में 742 मकान बन रहे है। बारिश के पूर्व 640 हितग्राहियों को पहली किस्त के रूप में 60 हजार रुपए की राशि खातें में डाली गई थी। वहीं, 50 हितग्राहियों को पहली किस्त की राशि बाद में राशि दी गई थी। जिसके बाद हितग्राहियों ने मकान बनाना शुरू कर दिया था। कई मकान आधे से ज्यादा बन गए है और छत भरने का इंतजार है। वहीं, 28 हितग्राही ऐसे है जिन्हे अब तक पहली किस्त भी नहीं मिल पाई है। ये हितग्राही भी पुराना मकान तोड़कर किराये के मकानों में रह रहे है। वहीं, आधा अधुरा मकान बनाकर बैठे हितग्राहियों को भी दूसरी किस्त का इंतजार है।
चार माह से रह रहे किराये के मकान में
चूनाभट्टी क्षेत्र के चंदर अवास्या ने बताया कि पहली किस्त मिली तो हमने मकान बनाना शुरू कर दिया। अब रुपए खत्म हो गए हैं और काम रुके नहीं इसलिए उधार में सामान लाकर काम करवा रहे है। अब तो सीमेंट, ईंट वालों ने भी उधार देने से मना कर दिया है। दूसरी किस्त जल्दी नहीं मिली तो मकान का काम रुक जाएगा। वहीं, इसी क्षेत्र में मकान बना रही लक्ष्मीबाई रमेश ने बताया कि पहली किस्त मिलते ही मकान का काम शुरू किया और किराये के मकान में आकर रहने लगे थे। तीन माह से किराये के मकान में रह रहे है। मकान का काम भी अधुरा पड़ा हुआ है। जब तक मकान नहीं बनता तब तक किराये के मकान में ही रहना पड़ेगा। जल्दी-जल्दी किस्ते मिल जाती तो किराये से छुटकारा मिल जाता।
किस्त मिलने से पहले ही तोड़ दिया था मकान
क्षेत्र के रवि किराड़े ने बताया कि उनका नाम हितग्राही लिस्ट में आया था। जिसके बाद उन्हें लगा था कि जल्द ही किस्त की राशि आ जाएगी और मकान का काम पूरा हो जाएगा। इसलिए मकान तोड़कर काम कराना शुरू कर दिया था। पहली किस्त मिलने में ही इतनी देरी हो गई। चार माह से किराये के मकान में रह रहे है। अब तो किराया भरना भी भारी पड़ रहा है। रामदेव बाबा मंदिर मार्ग निवासी रमजान मुगल ने बताया कि उनका मकान छत तक खड़ा हो गया है। दूसरी किस्त मिल जाए तो छत भर जाएगी और उन्हें अपने मकान में रहने को मिल जाएगा। अभी तो वे रिश्तेदार के यहां रह रहे है।
चार किस्तों में मिलना है राशि
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत हितग्राहियों को 2.50 लाख रुपए की राशि दी जा रही है, जो चार किस्तों में हितग्राहियों के खातों में जमा की जाएगी। जिसमें पहली किस्त 60 हजार की केंद्र सरकार द्वारा दी गई थी। अब दूसरी किस्त 40 हजार रुपए की राज्य सरकार द्वारा दी जाएगी। इसके बाद बाकी बची राशि दो किस्तों में आएगी। यदि हितग्राही अपना मकान पूरा कर लेता है तो उसके खाते में नगर पालिका दो किस्त एक साथ भी डाल सकती है।
दो-तीन दिन में डल जाएगी राशि
प्रधानमंत्री आवास योजना की दूसरी किस्त के लिए तीन करोड़ रुपए की राशि आ चुकी है। दो-तीन दिन में हम सभी हितग्राहियों के खाते में राशि डाल देंगे। जिन 28 लोगों को पहली किस्त नहीं मिली थी, उनके भी खातों में राशि डाली जा रही है। इसका मुख्य कारण हितग्राहियों के खाते में केवायसी नहीं होना, गलत खाता नंबर होना आदि था, जिसे दूर कर लिया गया है।
लक्ष्मणसिंह चौहान, नगर पालिका अध्यक्ष

Updated On:
25 Aug 2019, 10:30:49 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।