जैसे नन्दलाला के दर्शन को आ पहुंचे मानसून राजा,बरसात ने किया मुरलीधर का अभिनन्दन

By: Shiv Bhan Singh

Updated On:
25 Aug 2019, 07:29:49 PM IST

  • बारां. बारां जिले में शनिवार रात बारह बजे से शुरू हुई बरसात रविवार को भी जारी रही। ऐसा लगा जैसे खुद मानसून राजा नन्दलाला के चरण पखारने आ पहुंचे हों। ज्यों ही रोहिणी नक्षत्र के अनुसार घड़ी की सुइयां बारह बजने पर आई मानसून राजा ने जैसे नन्दलाला का खुशी से अभिनन्दन किया हो। यूं तो बरसात का दौर शनिवार रात दस बजे ही शुरू हो गया था लेकिन धीरे -धीरे बारिश आती रही। १२ बजे बाद अचानक तेज बारिश हुई।

जैसे नन्दलाला के दर्शन को आ पहुंचे मानसून राजा,बरसात ने किया मुरलीधर का अभिनन्दन

बारां. बारां जिले में शनिवार रात बारह बजे से शुरू हुई बरसात रविवार को भी जारी रही। ऐसा लगा जैसे खुद मानसून राजा नन्दलाला के चरण पखारने आ पहुंचे हों। ज्यों ही रोहिणी नक्षत्र के अनुसार घड़ी की सुइयां बारह बजने पर आई मानसून राजा ने जैसे नन्दलाला का खुशी से अभिनन्दन किया हो। यूं तो बरसात का दौर शनिवार रात दस बजे ही शुरू हो गया था लेकिन धीरे -धीरे बारिश आती रही। १२ बजे बाद अचानक तेज बारिश हुई। इस दौरान मंदिरों में दर्शन को पहुंचे सैंकड़ों लोग वापस अपने घर लौटकते समय बरसात से भीग भी गए। कस्बाथाना कस्बे में रविवार को भी आधा घंटे
तक तेज बरसात हुई। कस्बे में रविवार को सुबह से आसमान में बादल छाए रहे लेकिन दोपहर करीब दो बजे से बूंदाबांदी का दौर शुरू हो गया जिसके बाद करीब तीन बजे से आसमान में मेघ गर्जना के साथ तेज बरसात शुरू हुई जो आधा घंटा तक चलती रही। इसके बाद भी शाम तक कस्बे में हल्की बरसात मेघ गर्जना के साथ होती रही। कस्बे में आधा घंटा हुई तेज बरसात से सड़कों छतों पर पानी बह निकला । बरसात से मौसम मै ठंडक आ गई। इससे पंखा कूलर की चाल कम हो गई। भंवरगढ़ कस्बे सहित आसपास ग्रामीण अंचल में बरसात का दौर हुआ शुरू हुआ। सुबह
10 बजे से ही बरसात शुरू हो गई।
मंदिरों पर दर्शन करने पहुंच रहे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।
इधर खेतों में चल रहा निराई गुड़ाई का कार्य भी हुआ प्रभावित हुआ। इसके बाद भी शाम तक कस्बे में हल्की बरसात मेघ गर्जना के साथ होती रही। कस्बे में आधा घंटा हुई तेज बरसात से सड़कों छतों पर पानी बह निकला । बरसात से मौसम मै ठंडक आ गई। इससे पंखा कूलर की चाल कम हो गई। भंवरगढ़ कस्बे सहित आसपास ग्रामीण अंचल में बरसात का दौर हुआ शुरू हुआ। सुबह
10 बजे से ही बरसात शुरू हो गई।
मंदिरों पर दर्शन करने पहुंच रहे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।
इधर खेतों में चल रहा निराई गुड़ाई का कार्य भी हुआ प्रभावित हुआ।

Updated On:
25 Aug 2019, 07:29:49 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।