वन भूमि पर हकाई करते चार ट्रैक्टर जब्त, जंगल पर कर रहे अतिक्रमण

By: MAHESH GOSWAMI

Published On:
Jul, 11 2019 10:31 PM IST

 
  • कस्बे सहित क्षेत्र में पिछले कई दिनों से वन भूमि पर अतिक्रमण कर साफ सफ ाई कर हकाई करने और हरे पेड़ों को काटने की शिकायतें मिल रही थी। इसके बाद पत्रिका ने इस मुद्दे को प्रमुखता से उठाया और वन विभाग के अधिकारियों के निर्देश के बाद कर्मचारियों ने बड़ी कार्यवाही की है।

कस्बाथाना वन भूमि पर अतिक्रमण को लेकर राजस्थान पत्रिका में खबर प्रकाशित होने के बाद वन विभाग के अधिकारी कर्मचारियों ने बड़ी कार्यवाही करते हुए वन भूमि पर हकाई करते चार ट्रैक्टरों को मौके से जप्त किया है। कार्रवाई के डर से अतिक्रमणधारियों में भी हड़कंप मच गया । कस्बे सहित क्षेत्र में पिछले कई दिनों से वन भूमि पर अतिक्रमण कर साफ सफ ाई कर हकाई करने और हरे पेड़ों को काटने की शिकायतें मिल रही थी। इसके बाद पत्रिका ने इस मुद्दे को प्रमुखता से उठाया और वन विभाग के अधिकारियों के निर्देश के बाद कर्मचारियों ने बड़ी कार्यवाही की है।
यह ट्रैक्टर जप्त
कस्बाथाना क्षेत्र में अवैध वन भूमि पर अतिक्रमण कर हकाई करने के मामले में चार ट्रैक्टर जप्त किए गए । वनपाल प्रभारी सतीश गुर्जर ने बताया कि वन भूमि पर हकाई करते हुए डाबर क्षेत्र से धारा सिंह पुत्र हटेसिंह यादव, हाई-वे क्षेत्र से दिनेश पुत्र बाबूलाल जाटव, खिरिया क्षेत्र से कमलेश पुत्र भूरा भील, धुआं क्षेत्र से बहादुर पुत्र कैरई भील निवासी धुआं को रात्रि गश्त के दौरान वन भूमि पर हकाई करते हुए मौके पर पकड़। इनके खिलाफ वन अधिनियम के तहत कार्रवाई कर ट्रैक्टरों को जप्त किया गया है।

नयी जमीन तोड़कर कर रहे हकाई
वन भूमि पर हकाई करते हुए जप्त किए गए चारों ट्रैक्टर वन भूमि की नई जमीन पर कब्जा कर अतिक्रमण और साफ.सफ ाई के बाद हकाई बुबाई का कार्य कर रहे थे। कुछ लोगों के खिलाफ पूर्व में भी कार्रवाई की गई थी जिसके बाद भी अतिक्रमण धारी वनभूमि पर हकाई बुबाई का कार्य कर रहे थे । जप्त किए गए ट्रैेक्ट्रर सैकड़ों बीघा नवीन वन भूमि पर हरे पेड़ों को काटकर कब्जा कर हकाई का कार्य कर रहे थे।

Published On:
Jul, 11 2019 10:31 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।