निजी व सरकारी भवनों में वाटर हार्वेस्टिंग जरूरी हो

By: Hansraj Sharma

Updated On:
11 Jul 2019, 09:03:32 PM IST

  • केंद्र सरकार की ओर से जल शक्ति अभियान के लिए नियुक्त नोडल अधिकारी मुकेश चौधरी एवं हाईड्रोलोजिस्ट पैसनी पटेल गुरुवार को बारां पहुंची। जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक लेकर जिले को जल शक्ति से समृद्ध करने, सिंचाई व पेयजल के लिए जल पर्याप्त व्यवस्था

जल शक्ति अभियान की टीम पहुंची बारां

बारां. केंद्र सरकार की ओर से जल शक्ति अभियान के लिए नियुक्त नोडल अधिकारी मुकेश चौधरी एवं हाईड्रोलोजिस्ट पैसनी पटेल गुरुवार को बारां पहुंची। जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक लेकर जिले को जल शक्ति से समृद्ध करने, सिंचाई व पेयजल के लिए जल पर्याप्त व्यवस्था, भूजल के स्तर पर वृद्धि, परम्परागत जल स्त्रोतों के जीर्णोंद्धार आदि के संबंध में चर्चा कर निर्देश दिए।
भारत सरकार के कोयला मंत्रालय के निदेशक एवं जल शक्ति अभियान बारां के नोडल अधिकारी मुकेश चौधरी ने मिनी सचिवालय सभागार में समीक्षा बैठक ली। उन्होंने कहा कि जल शक्ति अभियान के प्रथम चरण में हमें प्रत्येक गांव, ब्लॉक व शहर तक जल संचय के सभी उपायों को क्रियान्वित करना है। वर्तमान में वर्षा से प्राप्त अधिकांश जल व्यर्थ बह जाता है। इसे भूमिगत जल को रिचार्ज करने के लिए उपयोग किया जाए। सभी सरकारी भवनों के साथ ही निजी भवनों में भी वाटर हार्वेस्टिंग अनिवार्य की जाए। केन्द्र से आई हाईड्रोलोजिस्ट पैसनी पटेल ने कहा कि जिले में सरफेस वाटर के साथ भूजल के स्तर को भी रिचार्ज करने की आवश्यकता है इसके लिए कार्ययोजना बनाकर जनसहभागिता के साथ उसे क्रियान्वित करना होगा।
जिला कलक्टर इन्द्र सिंह राव ने कहा कि जल शक्ति अभियान का उद्देश्य ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में भूजल स्तर में बढ़ोतरी, तालाब, कुंए, बोरवेल एवं अन्य जलस्त्रोतों में पानी की आवक, वन क्षेत्र में बढ़ोतरी व कृषकों की खुशहाली है। इसके सफल क्रियान्वयन के लिए जिला स्तरीय योजना बनाई जा रही है। जिला प्रमुख नंदलाल सुमन ने कहा कि जल शक्ति अभियान के तहत जल स्त्रोतों से कूड़ा व मलबा हटाने व सौंदर्यकरण के कार्य भी किए जाने चाहिए जिसके तहत बारां के डोल मेला तालाब व मनिहारा तालाब का विकास भी शामिल है। बैठक में नोडल विभागों वाटरशेड, वन, होर्टिकल्चर, जलसंसाधन, कृषि पीएचईडी, शिक्षा, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग आदि ने उक्त अभियान के तहत किए जाने वाले कार्यों की रिपोर्ट प्रस्तुत की। इस अवसर पर प्रधान अजीत सिंह, अजय सिंह विभिन्न विभागों के अधिकारी आदि मौजूद थे।
लावारिस मिली बालिका को किया संरक्षित
बारां. मानव तस्करी विरोधी प्रकोष्ठ की टीम ने कृष्णा कॉलोनी अस्पताल रोड से लावारिस हालत में घूमती मिली बालिका रेखा पुत्री शंकर कालबेलिया को संंरक्षित कर बाल कल्याण समिति सदस्य शैलेष मेहता एवं श्रीमती प्रिती अरोड़ा के समक्ष प्रस्तुत किया गया। जिसको बाल कल्याण समिति द्वारा काउन्सलिंग के बाद सखी केन्द्र राजकीय चिकित्सालय में भेज दिया गया। उप निरीक्षक प्रभारी हरलाल ने बताया कि टीम में हैड कांस्टेबल शरीफन एवं कांस्टेबल आशीष शामिल थे।

Updated On:
11 Jul 2019, 09:03:32 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।