बांसवाड़ा : अन्य जिलों से कार्यमुक्त होकर आए अभ्यर्थियों का इच्छित स्थान पर पदस्थापन

By: Ashish Bajpai

Published On:
Sep, 12 2018 12:52 PM IST

बांसवाड़ा. तृतीय श्रेणी राजकीय प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालय शिक्षक भर्ती 2016 लेवल टू गणित, विज्ञान (संशोधित) रिशफल के बाद अनुसूचित क्षेत्र के नव चयनित अभ्यर्थियों और अन्य जिलों से कार्यमुक्त होकर आए शिक्षकों की नियुक्ति और पदस्थापन के लिए काउंसलिंग मंगलवार दोपहर एक बजे जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक कार्यालय में हुई। काउंसलिंग में आमंत्रित सभी 37 अभ्यर्थी उपस्थित हुए। जिला शिक्षा अधिकारी बंशीलाल रोत, शैक्षिक प्रकोष्ठ अधिकारी खुशपाल शाह, आरटीई प्रभारी प्रदीप पाटीदार, दिग्पालसिंह, रामलाल यदव, महेंद्र खत्री की उपस्थिति में सभी अभ्यर्थियों को उनके इच्छित स्थान पर पदस्थापन किया गया।

दस्तावेजों का सत्यापन जारी
इधर, प्रारम्भिक शिक्षा विभाग एवं जिला परिषद् की ओर से जनजाति भवन में तृतीय वेतन श्रृंखला शिक्षक भर्ती 2018 लेवल टू के नव चयनित अभ्यर्थियों के दस्तावेजों का सत्यापन मंगलवार को भी जारी रहा। तृतीय वेतन श्रृंखला शिक्षक भर्ती 2018 लेवल टू के अभ्यर्थियों ने दस्तावेजों की जांच करवाई। अभ्यर्थियों के सत्यापन प्रक्रिया सुबह करीब साढ़े दस बजे से अलग-अलग दल में शुरू हुई। दल ने अभ्यर्थियों के शैक्षिक-प्रशैक्षिक एवं जाति, मूल निवास संबंधित दस्तावेजों का सत्यापन किया। मंगलवार को 200 अभ्यर्थियों में से 197 उपस्थित हुए। तीन अनुपस्थित रहे। शैक्षिक प्रकोष्ठ अधिकारी खुशपाल शाह ने बताया कि बुधवार को गणित-विज्ञान के 186 अभ्यर्थियों को आमंत्रित किया गया है।

भर्ती प्रक्रिया में पारदर्शिता की मांग
बांसवाड़ा. शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में पारदिर्शता बरतने एवं टीएसपी क्षेत्र में तृतीय श्रेणी लेवल दो की सीटों में बढ़ोतरी की मांग को लेकर मंगलवार को रीट के चयनित व कटऑफ से वंचित अभ्यर्थियों ने सीएम के नाम कलक्टर के रीडर को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती में टीएसपी क्षेत्र को जोड़ लिया गया, लेकिन सीटों में वृद्धि नहीं की गई। सीटों का बंटवारा भी वर्गवार पूर्व क्षेत्र के आधार पर ही रखा गया है। जिसका खमियाजा उन्हें भुगतना पड़ रहा है। अंदेशा जताया गया कि तृतीय श्रेणी भर्ती लेवल दो की कटऑफ में फर्जी व अमान्य प्रमाण-पत्रों के माध्यम से भी अभ्यर्थी चयनित हुए हैं। ऐसे में भर्ती प्रक्रिया में पारदिर्शता बरती जाए।

Published On:
Sep, 12 2018 12:52 PM IST