गोपाल का पैगाम : ‘बांसवाड़ा की सडक़ों पर घूम रहे पशुओं को रखने की व्यवस्था कराएं, आमजन की सुरक्षा का संकल्प उठाएं’

By: Sanjay Kumar Singh

|

Updated: 24 Aug 2019, 02:15 PM IST

Banswara, Banswara, Rajasthan, India

बांसवाड़ा. शहर की सडक़ पर कृष्ण जन्माष्टमी की पूर्व संध्या पर कान्हा का रूप धरे इस शख्स का पैगाम जिम्मेदार प्रशासन को समझ में आए तब कोई बात बने। शहर की सडक़ें गायों और अन्य मवेशियों से भरी पड़ी है। इनका कोई धणी धोरी नहीं। मवेशियों के जमावड़े के कारण आये दिन लोग इनकी चपेट में आकर घायल हो रहे हैं। मौत तक हो जाने के वाकये भी हो चुके हैं। यातायात में बाधा पैदा हो रही है। वहीं सडक़ों पर ऐसे विचरण करने वाले पशु भी कई बार हादसों का शिकार हो रहे है। नगर परिषद के जिम्मेदारों भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव पर एक यही संकल्प ले लो कि इस नगर में जहां तहां विचरण कर रहे इन पशुओं को रखने की समुचित व्यवस्था करेंगे और लोगों के लिए सडक़ पर सुरक्षित बनाएंगे। गायों के दुलारे भगवान कृष्ण का जन्मोत्सव मानने की सार्थकता भी इसी में होगी।

Reed More :

1. वागड़ में जन्माष्टमी पर गोकुल बनाने की परम्परा, मिट्टी से बनाई जाती है भगवान कृष्ण की लीलाओं की मनमोहक झांकी

2. बांसवाड़ा : यहां साढ़े चार दशक से चल रहा दधि उत्सव का सफर, रघुनाथ मंदिर से हुई थी शुरूआत

3. जन्माष्टमी आज : यहां बांसवाड़ा के तलवाड़ा कस्बे में दसवीं सदी से विराजमान हैं भगवान द्वारिकाधीश

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।